विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

श्रीनगर: शिया समुदाय के मुहर्रम जुलूस के मद्देनजर पाबंदी जारी

रविवार को शिया समुदाय मुहर्रम का जुलूस का निकाल सकता है, शांति भंग होने की आशंका को देखते हुए पाबंदियां जारी रखी गई हैं

Bhasha Updated On: Oct 01, 2017 03:39 PM IST

0
श्रीनगर: शिया समुदाय के मुहर्रम जुलूस के मद्देनजर पाबंदी जारी

मुहर्रम महीने के 10वें दिन के मद्देनजर श्रीनगर शहर के कई हिस्सों में लगातार तीसरे दिन भी पाबंगी जारी रही.

श्रीनगर के उप-आयुक्त सैयद आबिद राशिद शाह ने बताया कि शहर के 13 पुलिस थाना क्षेत्रों में प्रतिबंध जारी है. उन्होंने बताया कि करन नगर, शहीद गंज, बटमालू, शेरगढ़ी, मैसूमा, कोठीबाग, क्रालखुद, राम मुंशी बाग, रैनावाड़ी, नौहट्टा, खानयार, एम आर गंज और सफाकदल थाना क्षेत्र के इलाकों में धारा 144 के तहत पाबंदियां लगाई गई हैं.

जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि शांति भंग होने की आशंका को देखते हुए पाबंदियां तीसरे दिन भी जारी रखी गई हैं क्योंकि रविवार को मुहर्रम के 10वें दिन शिया समुदाय जुलूस का निकाल सकता है.

उप-आयुक्त सैयद आबिद राशिद शाह ने कहा, ‘यह आशंका है कि शरारती तत्व इस जुलूस को बाधित कर सकते हैं. कानून और व्यवस्था संबंधी परेशानी खड़ी कर सकते हैं जिससे शांति भंग हो सकती है और जान-माल को नुकसान पहुंच सकता है.'

मुहर्रम का पारंपरिक जुलूस इन इलाकों से होकर गुजरता है, लेकिन साल 1990 में घाटी में आतंकवाद बढ़ने के बाद से इसे प्रतिबंधित कर दिया गया था. क्योंकि अधिकारियों का मानना है कि इस तरह के धार्मिक समागम का अक्सर अलगाववादी राजनीति के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

इस्लामी कैलेंडर के पहले महीना, मुहर्रम पर कश्मीर घाटी में दूसरी जगहों पर जनजीवन सामान्य है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi