S M L

कुलभूषण जाधव मामले में 15 मई को इंटरनेशनल कोर्ट में अगली सुनवाई

‘भारत के एक सपूत’ की जिंदगी खतरे में थी इसलिए विचार-विर्मश के बाद इंटरनेशनल कोर्ट जाने का फैसला लिया

Bhasha | Published On: May 10, 2017 11:17 PM IST | Updated On: May 10, 2017 11:53 PM IST

0
कुलभूषण जाधव मामले में 15 मई को इंटरनेशनल कोर्ट में अगली सुनवाई

इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले में 15 मई को अगली सुनवाई करेगा. आईसीजे ने मंगलवार को कुलभूषण जाधव की फांसी की सजा पर रोक लगा दी थी.

बुधवार को विदेश मंत्रालय ने कहा कि कुलभूषण जाधव के मुद्दे पर भारत ने आईसीजे में जाने का निर्णय सावधानीपूर्वक विचार-विर्मश करने के बाद लिया. ऐसा इसलिए क्योंकि उन्हें गैर-कानूनी रूप से पाकिस्तान में कैद कर के रखा गया था जहां उनका जीवन खतरे में था.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा कि, भारत ने उच्चायोग संपर्क (काउंसलर एक्सेस) के लिये 16 बार अपील की थी लेकिन हर बार इसे इनकार कर दिया गया. हमने कई बार जाधव मामले में चलाई गई प्रक्रिया की जानकारी मांगी लेकिन पाकिस्तान द्वारा इस मामले के दस्तावेजों से जुड़ी हमारी मांग पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता से पूछा गया था कि भारत इस मामले को लेकर अंतरराष्ट्रीय अदालत में क्यों गया. इस पर बागले ने कहा कि पाकिस्तानी आर्मी कोर्ट के आदेश के खिलाफ जाधव के परिवार की अपील की स्थिति के बारे में कोई जानकारी नहीं है.

Kulbhushan Jadhav

तस्वीर: प्रतीकात्मक

सावधानीपूर्वक चर्चा के बाद आईसीजे जाने का फैसला

उन्होंने कहा कि जाधव मामले में भारत ने सावधानीपूर्वक चर्चा के बाद आईसीजे जाने का फैसला किया. क्योंकि वह अवैध रूप से पाकिस्तान की कैद में हैं और ‘भारत के एक सपूत’ की जिंदगी खतरे में थी. उन्हें निष्पक्ष जांच का मौका भी नहीं दिया जा रहा है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने 27 अप्रैल को पाकिस्तान के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज को खत लिखकर अनुरोध किया था कि कुलभूषण जाधव के परिवार को वीजा दिया जाए. लेकिन पाकिस्तान की तरफ से उनके परिवार को अभी तक वीजा नहीं दिया गया.

उन्होंने कहा कि वरिष्ठ वकीलहरीश साल्वे भारत की तरफ से इस मामले की वकालत कर रहे हैं. आईसीजे के नियमों में अदालत में लंबित बैठक होने के संबंध में स्थिति को स्पष्ट किया गया है.

बागले ने कहा कि सरकार को पाकिस्तान में जाधव की हालत और स्वास्थ्य के बारे में किसी तरह की कोई सूचना नहीं है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi