S M L

कर्जमाफी योजना: 2008 के बाद कर्ज लेने वाले किसान भी शामिल

इससे पहले ऋण माफी योजना के दायरे वे किसान शामिल थे जिनका अप्रैल 2012 और 30 जून 2016 के बीच ऋण बकाया था

Bhasha | Published On: Jul 06, 2017 03:55 PM IST | Updated On: Jul 06, 2017 03:55 PM IST

0
कर्जमाफी योजना: 2008 के बाद कर्ज लेने वाले किसान भी शामिल

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने गुरुवार को कहा कि प्रदेश सरकार ने अपने कर्जमाफी के दायरे का विस्तार किया है. जिसमें वर्ष 2008 के बाद कर्ज लेने वाले किसानों को भी शामिल किया गया है.

इससे पूर्व छत्रपति शिवाजी महाराज सम्मान योजना नामक इस कर्ज माफी योजना के दायरे में केवल उन किसानों को शामिल किया गया था जिन्होंने अप्रैल 2012 और 30 जून 2016 के बीच ऋण बकाए थे. फड़णवीस ने बुधवार को अपने कार्यक्रम के दौरान ऋण माफी योजना का दायरा बढ़ाने की घोषणा की.

2008 में कांग्रेस सरकार ने किया था ऋण माफी 

बीजेपी विधायक अनिल बोंडे, आशीष देशमुख, संजय कुटे और प्रशांत बाम्ब ने बुधवार को मुख्यमंत्री से मुलाकात की और मांग की कि एक मार्च 2008 और 31 मई 2012 के पहले कृषि ऋण लेने वाले किसानों को पिछले माह घोषित ऋण माफी योजना का लाभ दिया जाए.

इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने 2008 में कृषि ऋण माफी और कर्ज राहत योजना की घोषणा की थी. जिसमें किसानों के 71,000 करोड़ रुपए के कर्ज माफ किए गए.

मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि किसानों द्वारा 2016-17 में लिए गए कर्ज की वापसी की तिथि को 30 जून 2017 से आगे बढ़ाकर 31 जुलाई कर दी गई. यह सुविध नियमित रूप से कर्ज का भुगतान करने वाले किसानों को दी गई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi