S M L

मुंबई लोकल में लड़की के साथ शर्मनाक हरकत, लड़की ने फेसबुक पर साझा किया दर्द

मुंबई लोकल में ऐसी घिनौनी हरकत रेलवे के पूरे तंत्र पर सवाल खड़ा करता है

Ravishankar Singh Ravishankar Singh | Published On: Jul 10, 2017 10:59 PM IST | Updated On: Jul 11, 2017 02:41 PM IST

0
मुंबई लोकल में लड़की के साथ शर्मनाक हरकत, लड़की ने फेसबुक पर साझा किया दर्द

मुंबई लोकल ट्रेन में पिछले दिनों घटित एक घटना ने महिलाओं की सुरक्षा पर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं. मुंबई की लाइफ लाइन मानी जानी वाली लोकल ट्रेन में एक लड़की के साथ सरेआम छेड़छाड़ की घटना ने देश को हिला कर रख दिया है.

देश के प्रधानमंत्री महिलाओं की सुरक्षा को लेकर समय-समय पर सरकार की इच्छाशक्ति को प्रकट करते रहते हैं. लेकिन, उन्हीं के अधिनस्थ मंत्रालयों के मंत्रियों का महिलाओं के प्रति रवैया ढुलमुल बना हुआ है.

ट्रेन में महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की घटनाएं कम होने के बजाए बढ़ती ही जा रहे हैं. पिछले दिनों मुंबई लोकल ट्रेन में सफर करने वाली एक 20 साल की लड़की ने छेड़छाड़ का एक ऐसे वाक्या अपने फेसबुक वॉल पर लिखा है जिससे रेल में सफर करने वाला हर शख्स सुनकर हैरान रह जाएगा.

दोतरफा मुश्किल

लड़की के साथ लेडीज कम्पार्टमेंट में एक युवक ने छेड़छाड़ ही नहीं किया बल्कि घिनौनी हरकत करते हुए लड़की को गंदी-गंदी गालियां भी दी. हद तो तब हो गई जब पीड़िता ने हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत की तो संबंधित अधिकारी शिकायत पर कार्रवाई करने के बजाए लड़की पर ही हंसने लगा.

पीड़ित लड़की ने इस शर्मनाक घटना को अपने फेसबुक वॉल पर पोस्ट किया. पीड़ित लड़की ने फेसबुक वॉल पर लिखा कि जब वह अपने दोस्त के साथ मुंबई लोकल के लेडीज कम्पार्टमेंट में बैठी थी. मेरे साथ मेरे करीब उस कम्पार्टमेंट में 6 महिलाएं और बैठी थी.

मेरे ही बॉगी में हैंडिकैप्ड एरिया में एक लड़का खड़ा था. जो मेरी तरफ देख कर गंदी-गंदी इशारा करने लगा. इस दौरान वह गालियां भी देने लगा. गालियां देते देते वह मेरे करीब आ गया. मैंने अपना मुंह नीचे कर लिया. मेरे मुंह नीचे करने के बावजूद वह लड़का गालिया देना बंद नहीं किया. साथ ही अपना पैंट का बटन खोल कर गंदी-गंदी हरकतें करने लगा.

मैंने मदद के लिए अपने बगल में बैठी महिला को हेल्पलाइन नंबर पर फोन करने को कहा. पीड़िता ने अपने फेसबुक वॉल पर लिखा कि जब वह हेल्पलाइन पर खुद बात करने लगी तो सामने वाला सुनकर हंसने लगा. कुछ देर तक वह मेरी बात सुनता रहा फिर उसने फोन काट दिया.

कांदिवली स्टेशन आने पर वह आदमी जाने लगा. जैसे ही मैं उस आदमी के तरफ पीछे से बढ़ा तो उसने कहा कि मैं तुम्हारा रेप कर दूंगा. मैंने उससे कहा कि हिम्मत है तो करो.

सुरक्षित नहीं रही रेल

भारतीय रेल में यह पहला वाकया नहीं है. इससे पहले भी भारतीय रेल में इस तरह की घटनाएं होती रही हैं. हाल के कुछ दिनों से भारतीय रेल सुरक्षा के लिहाज से संदेह की नजर से देखा जाने लगा है.

मुंबई लोकल में ऐसी घिनौनी हरकत रेलवे के पूरे तंत्र पर सवाल खड़ा करता है. इस शर्मनाक घटना के बाद रेलवे में महिलाओं की सुरक्षा पर भी गंभीर सवाल खड़े हो गए हैं. इससे पहले भी दुरंतो एक्सप्रेस में पिछले दिनों एक विदेशी महिला के साथ इस तरह की घटना हुई थी. उस घटना के बाद भी रेलवे ने कोई सीख नहीं ली.

देश में महिलाओं के साथ घटने वाली इस तरह की शर्मनाक घटनाएं आए दिन सामने आती रहती है. जब किसी महिला के साथ रेप जैसी घटनाएं होती है तभी प्रशासन की नींद खुलती है. दो चार दिन मीडिया में मामला गर्म रहता है. राजनीतिक बयानबाजी होती है. आरोप-प्रत्यारोप लगते हैं और फिर पांच दिनों के बाद मामला गायब.

ट्विटर से बाहर कब निकलेंगे रेल मंत्री

देश के रेल मंत्री ट्विटर पर जरूर उपलब्ध रहते हैं. दूध, पानी और सीट को लेकर पिछले दो सालों से उनकी सक्रियता की खूब चर्चा होती है. लेकिन, जब यात्रियों की सुरक्षा की बात आती है तो रेल मंत्री जी की तत्परता में कमी आ जाती है.

फ़र्स्टपोस्ट हिंदी से बात करते हुए वेस्टर्न रेलवे के सीपीआरओ रविंद्र भाकर कहते हैं, ‘देखिए ये घटना हमलोगों के संज्ञान में सोशल मीडिया के जरिए आई है. ये घटना 24 मई के शाम 4 बजे की है. उस दौरान जो कॉल किए गए थे उसकी रिकॉर्डिंग भी हमलोगों ने देखा. जिस तरह से फेसबुक में लिखा गया है कि इस घटना को हल्के में लिया गया है ऐसा कुछ भी रिकॉर्डिंग सुनने से प्रतीत नहीं होता है.’

रविंद्र भाकर कहते हैं कि, जिस हेड कॉन्स्टेबल ने ये कॉल लिया था उसने अगले स्टेशन को भी एलर्ट कर दिया था. जब तक ट्रेन अगले स्टेशन पहुंचती दोषी लड़का उतर कर चला गया था. हमलोगों ने आरपीएफ के उस हेड कॉंस्टेबल को घटना की जानकारी सीनियर्स अधिकारी के संज्ञान में नहीं लाने के लिए चार्जशीट कर दिया है और जो दोषी है उसकी पहचान कर ली गई है, जीआरपी के द्वारा हर जगह उसका फोटो लगा दिया गया है. दोषी की तलाश जारी है शायद जल्द ही उसको पकड़ा जाएगा.

रविंद्र भाकर के मुताबिक इस घटना के बाद मुंबई लोकल की सुरक्षा और कड़े कर दिए गए हैं. लेडीज यात्रियों के कॉल सुनने के लिए लेडीज पुलिसकर्मी को लगाया गया है. साथ ही मोबाइल एप के जरिए भी महिलाओं को और ज्यादा सेफ्टी दी जा रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi