S M L

गोल्फ क्लब ने महिला को बोला 'डस्टबिन', रिजिजू ने कहा- नस्लीय भेदभाव

मेघालय की पारंपरिक ड्रेस पहने हुए महिला से दिल्ली गोल्फ क्लब का निंदनीय व्यवहार.

FP Staff Updated On: Jun 27, 2017 07:46 PM IST

0
गोल्फ क्लब ने महिला को बोला 'डस्टबिन', रिजिजू ने कहा- नस्लीय भेदभाव

दिल्ली गोल्फ क्लब में मेघालय की एक महिला के साथ हुई बदसलूकी को गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू ने नस्लीय भेदभाव करार दिया है. उन्होंने इसकी निंदा करते हुए ट्वीट किया कि भारत में किसी भी तरह के नस्लीय भेदभाव के लिए जगह नहीं है. इसे खत्म करना होगा. उन्होंने बताया कि उन्होंने दिल्ली पुलिस कमिशनर से इस मामले की जांच करने को कहा है.

पूरा मामला तब शुरू हुआ, जब इस रविवार को मेघालय की स्वास्थ्य सलाहकार निवेदिता बर्थाकुर सोंधी अपनी सहायिका के साथ लंच पार्टी के लिए गई थीं. उनकी सहायिका तैलिन लिंगदोह ने मेघालय की पारंपरिक खासी ड्रेस जैनसेम पहन रखी थी.

थोड़ी देर बाद क्लब के कुछ अधिकारी उनके पास आए और क्लब से बाहर जाने को कहा. उन्होंने उन्हें नौकरानी और कचरे का डिब्बा जैसे शब्दों से अपमानित करते हुए कहा कि वो यहां बैठकर लंच नहीं कर सकतीं क्योंकि वो डस्टबिन जैसी दिख रही हैं और उनकी ड्रेस नौकरानियों जैसी है.

लिंगदोह ने आईएनस से कहा, 'लंच शुरू होने से थोड़ी देर पहले एक अधिकारी ने मुझे क्लब से बाहर जाने को कहा, मुझे बहुत दुख हुआ. मैंने उनसे कारण पूछा तो उन्होंने कहा कि मेरी ड्रेस नौकरानियों जैसी है. इसलिए मैं यहां लंच नहीं कर सकती.'

उन्होंने आगे जोड़ा, 'मैं अबतक दुनिया में बहुत सी जगहों पर जा चुकी हूं. मैंने होटलों, रेस्तराओं में खाना खाया है. लेकिन आज तक कभी मुझे किसी ने ऐसा नहीं कहा. लोग तो मेरे पारंपरिक ड्रेस की तारीफ करते हैं. मैं बहुत अपमानित महसूस कर रही हूं.'

निवेदिता बर्थाकुर ने बताया कि वो लोग क्लब के एक सदस्य के निमंत्रण पर लंच पार्टी आए थे. दुख है कि भारत में लोगों को उनके परिधान से आंका जा रहा है और उनसे इसतरह का व्यवहार किया जा रहा है. निवेदिता बर्थाकुर ने अपनी फेसबुक वॉल पर ये पूरा मसला उठाया है.

उन्होंने अपमानजनक व्यवहार करने वाले अधिकारियों के नाम भी बताएं. इनके नाम हैं- अजीत पाल और सुमिता ठाकुर. सोंधी ने कहा कि वो इन लोगों के खिलाफ कानूनी एक्शन लेंगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi