S M L

जानिए क्यों नहीं मिला विधानसभा में PETN ले जाने वाले का सुराग

यूपी विधानसभा में PETN मिलने के बाद एटीएस की टीम ने विधानसभा का जायजा लिया

FP Staff | Published On: Jul 15, 2017 07:35 PM IST | Updated On: Jul 15, 2017 07:35 PM IST

0
जानिए क्यों नहीं मिला विधानसभा में PETN ले जाने वाले का सुराग

उत्तर प्रदेश विधानसभा में खतरनाक विस्फोटक पीईटीएन मिलने के बाद शनिवार को एटीएस की टीम ने विधानसभा का जायजा लिया. इस दौरान जांच में पता चला है कि विधानसभा सेंट्रल हॉल के अंदर लगे 6 सीसीटीवी कैमरों को सत्र शुरू होने से महज आधा घंटे पहले ही चालू किया जाता है.

इतना ही नहीं सदन में लगे छह कैमरों में पांच कैमरे लाइव करते हैं जबकि एक ही कैमरा रिकार्डिंग के लिए रखा गया है. इस व्यवस्था की वजह से एटीएस अब तक नतीजे तक नहीं पहुंच सकी है.एटीएस की जांच में विधानसभा की सुरक्षा में हो रही बड़ी चूक का सामने आई है.

एटीएस की टीम को जांच में पता चला है कि सदन के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरों को बंद रखा जाता है. जबकि सुरक्षा के लिहाजा से कैमरों को 24 घंटे चालू रहना चाहिए. वहीं सदन के अंदर लगे छह कैमरों को सत्र शुरू होने से महज आधा घंटे पहले ही शुरू किया जाता है. उससे पहले सदन के अंदर कौन आया, कौन गया इस बात की जानकारी इन कैमरों से नहीं हो सकती.

यही वजह है कि मामले को तीन दिन बीत गए हैं लेकिन जांच में जुटी एटीएस अभी तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है. हालांकि इस मामले की जांच यूपी एटीएस के साथ एनआईए कर रही है. इस मामले में यूपी एटीएस ने रायबरेली के उंचाहार से सपा विधायक मनोज पांडेय समेत कई विधायकों और विधान सभा के स्टाफ से पूछताछ कर रही है.

(साभार: न्यूज़18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi