S M L

राजनाथ सिंह ने कहा, मोदी सरकार ने ISIS को भारत में पैर नहीं जमाने दिया

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने केंद्र में मोदी सरकार के तीन साल का हिसाब दिया

FP Staff Updated On: Jun 03, 2017 03:28 PM IST

0
राजनाथ सिंह ने कहा, मोदी सरकार ने ISIS को भारत में पैर नहीं जमाने दिया

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने केंद्र में मोदी सरकार के तीन सालों का हिसाब देते हुए कहा कि देश में सुरक्षा के हालात बेहतर हुए हैं.उन्होंने दावा किया कि हमें कई आतंकी संगठनों को खत्म करने में कामयाबी मिली है.

राजनाथ सिंह ने कहा कि आईएसआईएस की सारी कोशिशों के बावजूद उसे देश में पैर नहीं जमाने दिया गया. उन्होंने कहा, 'पिछले तीन सालों में देश में 90 से ज्यादा आईएस समर्थक पकड़े गए हैं. भारत मुस्लिम आबादी के हिसाब से दूसरा सबसे बड़ा देश है लेकिन अब तक आईएसआईएस का कोई प्रभाव नहीं है, यह हमारी लिए बड़ी सफलता है.'

उन्होंने बताया कि आतंवादी संगठनों की सूची में आईएसआईएस और अंसार-उल-अम्माह को शामिल किया गया है.

सिंह ने कहा कि कश्मीर में हालात पहले के मुकाबले बेहतर हुए हैं. उन्होंने दावा किया कि सरकार पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद का सफाया कर कश्मीर में शांति स्थापित करेगी.

गृह मंत्री ने कहा कि पिछले साल सितंबर महीने में नियंत्रण रेखा के पार किए गए 'सर्जिकल स्ट्राइक' के बाद के छह महीनों में पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की कोशिशों में बीते वर्ष इसी अवधि की तुलना में 45 फीसदी की कमी आई है.

वहीं उन्होंने यह भी कहा कि सरकार नक्सल समस्या को नियंत्रित करने में सफल रही है और इसे पूरी तरह खत्म करने के लिए सरकार ने नई रणनीति बनाई है.

उन्होंने कहा, 'मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल में नक्सली हिंसा में 25 फीसदी से अधिक की कमी आई है और नक्सल प्रभावित इलाकों में 307 नए पुलिस स्टेशन बनाए गए हैं.’ उन्होंने आगे बताया कि नक्सली हमलों में मारे जाने वाले लोगों कि संख्या में 42 फीसदी की कमी आई है.

क्या-क्या कहा गृह मंत्री ने

राजनाथ सिंह ने कहा कि पिछले तीन साल में 90 से ज्यादा आईएस समर्थक पकड़े गए.

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान से आतंकी गतिविधि में 75 फीसदी की कमी आयी है’

अब तक हिजबुल के पांच आतंकियों को फांसी की सजा दी गई है’

2014 से 2017 के बीच भारतीय सेना ने करीब 368 आतंकियों को मार गिराया.

नक्सल प्रभावित इलाकों के लिए नई रणनीति बनी, नक्सली घटनाओं में 25 फीसदी की कमी आई.

देश के पूर्वोत्तर क्षेत्र में शाति और स्थिरता लाने के प्रभावी कदम उठाए गए.

जवानों की समस्याओं के समाधान के लिए प्रभावी कदम उठाये गए है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi