S M L

अब खजुराहो में नहीं बिकेंगी कामसूत्र की किताबें!

बजरंग सेना के कार्यकर्ताओं ने खजुराहो मंदिर में कामसूत्र की किताबों के बेचे जाने पर रोक लगाने की मांग की है.

FP Staff | Published On: Jun 15, 2017 04:21 PM IST | Updated On: Jun 15, 2017 04:21 PM IST

अब खजुराहो में नहीं बिकेंगी कामसूत्र की किताबें!

बजरंग सेना के कार्यकर्ताओं ने खजुराहो मंदिर में कामसूत्र की किताबों के बेचे जाने पर रोक लगाने की मांग की है. हिंदुस्तान टाइम्स पर छपी रिपोर्ट के मुताबिक, कार्यकर्ताओं ने छतरपुर पुलिस से मंदिर परिसर में किताबें और अश्लील मूर्तियों के बेचे जाने पर रोक लगाने की मांग की है.

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में स्थित इस मंदिर को यूनेस्को ने वर्ल्ड हेरिटेज साइट का दर्जा दिया हुआ है. इन मंदिरों की बाहरी दीवारों पर कामुकता से भरी मूर्तिकला को दर्शाया गया है, जिसके लिए ये काफी लोकप्रिय है.

दक्षिणपंथी समूह के सदस्यों ने खजुराहो के सब-डिविजनल ऑफिसर ऑफ पुलिस, इसरार मनसूरी को ज्ञापन सौंपते हुए दावा किया है कि इस तरह की चीजों (कामसूत्र की किताबें) का बिकना भारतीय संस्कृति और परंपरा के खिलाफ है.

समूह के खजुराहो इकाई के अध्यक्ष ज्योति अग्रवाल ने कहा है कि इस तरह की चीजें मंदिर परिसर में एएसआई और टूरिज्म डिपार्टमेंट के अधिकारियों की नाक के नीचे उपलब्ध हैं. ये चीजें विदेशियों की नजरों में भारतीय संस्कृति और परंपरा की खराब छवि पेश करती हैं.

इसके अलावा बजरंग सेना के कार्यकर्ता बेचने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं. पुलिस अधिकारी ने बताया कि हम एएसआई और पर्यटन विभाग के अधिकारियों से चर्चा करेंगे.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi