S M L

जस्टिस कर्णन मामला: जानिए अब तक क्या हुआ

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को ही जस्टिस कर्णन को 6 महीने कैद की सजा सुनाई थी

FP Staff Updated On: May 11, 2017 01:59 PM IST

0
जस्टिस कर्णन मामला: जानिए अब तक क्या हुआ

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को ही जस्टिस कर्णन को छह महीने कैद की सजा सुनाई थी. उन्हें भारत के चीफ जस्टिस समेत शीर्ष न्यायालय के न्यायाधीशों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाने के मामले में अवमानना का दोषी ठहराया गया है.

फिर बुधवार को कलकत्ता के सरकारी गेस्ट हाउस से जस्टिस कर्णन अचानक गायब हो गए. अब अचानक जस्टिस सी.एस.कर्णन के चेन्नई में होने का दावा उनके वकील ने किया है. कर्णन के वकील ने सीएनएन-न्यूज 18 से कहा कि कर्णन कहीं भाग नहीं रहे बल्कि चेन्नई में ही हैं.

हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि वह कहां हैं. इससे पहले कहा जा रहा था कि कर्णन के बारे में बुधवार से कोई जानकारी नहीं मिल पा रही है.

कर्णन के वकील ने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट को कर्णन की ओर से भेजे गए माफीनामे को स्वीकार कर लेना चाहिए और सजा खत्म करनी चाहिए.

सर्वोच्च न्यायालय ने पश्चिम बंगाल के पुलिस महानिदेशक को तत्काल न्यायमूर्ति कर्णन की गिरफ्तारी के आदेश पर अमल करने के लिए एक टीम गठित करने का आदेश दिया है. सर्वोच्च न्यायालय ने मीडिया पर भी न्यायमूर्ति कर्णन की किसी भी टिप्पणी को छापने पर रोक लगा दी है.

कब क्या हुआ?

- 10 मार्च को अवमानना के एक मामले में चीफ जस्टिस जी एस खेहर की अध्यक्षता वाली सात न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने जस्टिस कर्णन के खिलाफ जमानती वारंट जारी किया.

- सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से जस्टिस कर्णन नाराज हो गए. फिर कर्णन ने 14 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जेएस खेहर सहित सात न्यायाधीशों को एससी एसटी एक्ट के उल्लंघन का दोषी बनाया और उनके खिलाफ इन आरोपों में समन जारी कर दिया.

-1 मई को सुप्रीम कोर्ट ने जस्टिस कर्णन की मानसिक जांच के लिए मेडिकल टीम भेजने का आदेश सुनाया. सुप्रीम कोर्ट ने जांच रिपोर्ट 8 मई तक सौंपने का आदेश दिया था.

-4 मई को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर तीन सदस्यों की एक मेडिकल टीम जस्टिस कर्णन के घर पहुंची. मगर इस जांच को गैरकानूनी बताते हुए टीम को वापस लौटा दिया गया. उन्होंने बताया कि इस तरह की जांच में गार्जियन सिग्नेचर की जरूरत होती है जो इस पर नहीं थे.

-इसके बाद जस्टिस कर्णन ने चीफ जस्टिस जगदीश सिंह खेहर को पांच साल सश्रम कारावास की सजा सुना दी. इतना ही नहीं खेहर के साथ-साथ उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के सात अन्य न्यायाधीशों को भी यही सजा सुना.

-इसके पहले कर्णन ने 20 जजों के खिलाफ भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था. इसी के बाद सुप्रीम कोर्ट ने कर्णन के खिलाफ अवमानना का मामला दर्ज किया था.

- 9 मई को कर्णन को भारत के चीफ जस्टिस समेत शीर्ष न्यायालय के न्यायाधीशों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाने के मामले में अवमानना का दोषी ठहराया गया. कर्णन मंगलवार को चेन्नई से कोलकाता पहुंचे थे.

- बुधवार को कलकत्ता के सरकारी गेस्ट हाउस से जस्टिस कर्णन अचानक गायब हो गए जिसके बाद उन्हें ढूंढने के लिए पश्चिम बंगाल पुलिस की एक टीम चेन्नई पहुंच गई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi