S M L

लेफ्टिनेंट उमर फयाज की हत्या में हिजबुल मुजाहिदीन का हाथ: जम्मू-कश्मीर पुलिस

पुलिस ने दक्षिणी कश्मीर में रहने वाले अब्बास नाम के शख्स की इस हत्या के मास्टमाइंड के रूप में पहचान की है

FP Staff | Published On: May 11, 2017 11:24 PM IST | Updated On: May 11, 2017 11:24 PM IST

लेफ्टिनेंट उमर फयाज की हत्या में हिजबुल मुजाहिदीन का हाथ: जम्मू-कश्मीर पुलिस

जम्मू-कश्मीर पुलिस के सूत्रों ने बताया है कि सेना के अफसर लेफ्टिनेंट उमर फयाज की हत्या में हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़े आतंकियों का हाथ है.

सीएनएन न्यूज के मुताबिक उमर की हत्या में इंसास राइफल का इस्तेमाल किया गया है जिसे आतंकियों ने पिछले महीने पुलवामा से लूटा था. पुलिस ने इस मामले में छानबीन तेज कर दी है. पुलिस ने इंसास राइफल के दो खोखे भी बरामद किए हैं.

सुरक्षा एजेंसियों ने लेफ्टिनेंट उमर फयाज की हत्या को अंजाम देने वाले 6 आतंकियों की पहचान होने का दावा किया है. साथ ही उनका दावा है कि इस घटना के बाद कश्मीर में स्थानीय आबादी के बीच हमारे लिए समर्थन बढ़ा है.

शादी में शामिल होने गए थे शोपियां 

फिलहाल मामले में पुलिस ने दक्षिणी कश्मीर में रहने वाले अब्बास नाम के शख्स की इस हत्या के मास्टमाइंड के रूप में पहचान की है.

जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में उमर अपने मामा मोहम्मद मकबूल की बेटी की शादी में शामिल होने के लिए आए थे. मंगलवार की रात आतंकियों ने उन्हें अगवा कर लिया था. इसके बाद बुधवार सुबह गोलियों से छलनी उनका शव मिला.

फयाज की उम्र सिर्फ 23 साल थी. वह कुलगाम के रहने वाले हैं. फयाज राजपूताना राइफल में थे. उनकी पोस्टिंग अखनूर सेक्टर में थी. उन्होंने 2012 में एनडीए ज्वाइन किया था. वे दिसंबर 2016 में इंडियन आर्मी में शामिल हुए थे. कुलगाम में वे युवाओं के आदर्श थे.

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi