S M L

आईएसआई का बड़ा नेटवर्क ध्वस्त, एटीएस ने पकड़े मुंबई-फैजाबाद से 2 एजेंट

एटीएस ने हाल ही में खुरासान माड्यूल का पर्दाफाश किया था

Bhasha | Published On: May 04, 2017 09:39 AM IST | Updated On: May 04, 2017 09:39 AM IST

आईएसआई का बड़ा नेटवर्क ध्वस्त, एटीएस ने पकड़े मुंबई-फैजाबाद से 2 एजेंट

भारत में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई से जुड़ा बड़ा रैकेट का पर्दाफाश हुआ है. इस रैकेट के तार उत्तर प्रदेश से लेकर महाराष्ट्र तक फैले हुए हैं.

यूपी पुलिस के आतंकवाद रोधी स्क्वायड एटीएस ने बुधवार को फैजाबाद से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के एक एजेंट को गिरफ्तार किया जबकि एक अन्य संदिग्ध को भी हिरासत में लिया गया है.

एटीएस महानिरीक्षक असीम अरूण ने बताया कि आईएसआई एजेंट आफताब अली नई दिल्ली स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग के संपर्क में था और एटीएस को उसके खिलाफ पुख्ता सबूत मिले हैं. उससे पूछताछ की जा रही है, जिसके बाद और गिरफ्तारियां हो सकती हैं.

राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था आदित्य मिश्र ने कहा, 'एटीएस ने एक अन्य संदिग्ध व्यक्ति को भी हिरासत में लिया है.'

उन्होंने बताया कि आफताब के पास से बरामद हुए फोन से आईएसआई नेटवर्क को लेकर और अधिक जानकारी मिलने की संभावना है. आफताब पाकिस्तानी उच्चायोग के जिस अधिकारी से मिला है, उसके नाम की पुष्टि की जा रही है. आफताब के बैंक खाते में जमा हुए पैसे के बारे में भी जांच की जा रही है.

अरूण ने बताया कि यूूपी एटीएस, मिलिट्री इंटेलिजेंस और यूपी इंटेलिजेंस के आपसी समन्वय से आफताब को फैजाबाद से गिरफ्तार किया गया.

उनके मुताबिक आफताब ने पूछताछ में बताया कि उसने पाकिस्तान में आईएसआई से ट्रेनिंग ली थी और वो पाकिस्तानी उच्चायोग के संपर्क में था.

एटीएस को आफताब के खिलाफ पुख्ता सबूत मिले हैं. कैंट इलाके के कई फोटोग्राफ उसके मोबाइल फोन में मिले हैं. उसके मोबाइल के रिकार्ड को खंगालने से कई और अहम सुराग मिलने की संभावना है.

अरूण ने बताया कि एक अन्य संदिग्ध को भी हिरासत में लिया गया है, जिससे पूछताछ की जा रही है. आफताब फैजाबाद के ख्वासपुरा इलाके का रहने वाला है. अरूण ने बताया कि आफताब से पूछताछ के बाद कई और गिरफ्तारियां हो सकती हैं.

उत्तर प्रदेश पुलिस ने राज्य में आईएसआई से प्रशिक्षित आतंकवादियों द्वारा हमले करने की आशंका को लेकर चेतावनी जारी की थी. पुलिस के मुताबिक पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा कथित तौर पर प्रशिक्षित आतंकियों के समूह से फैजाबाद जिले के अयोध्या, वाराणसी, वृन्दावन और आगरा के ताजमहल जैसे धार्मिक और ऐतिहासिक स्थलों को निशाना बनाने के लिए कहा गया था.

खुफिया खबरों के बाद अयोध्या, काशी और मथुरा सहित कई धार्मिक स्थानों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई थी. हवाई अड्डों, बस और रेलवे स्टेशनों सहित सार्वजनिक जगहों पर भी चौकसी बढ़ाई गई थी.

अरूण ने बताया कि यूपी एटीएस ने सभी जिला पुलिस कप्तानों को अलर्ट कर दिया है. संभावित खतरे को लेकर रेलवे के पुलिस अधीक्षकों को भी सतर्क कर दिया गया है. ऐसे किसी भी प्रयास को नाकाम करने के लिए हम अन्य एजेंसियों से समन्वय कर रहे हैं.

एटीएस ने हाल ही में खुरासान माड्यूल का पर्दाफाश किया था. पिछले महीने इसी माड्यूल से संबद्ध संदिग्ध आतंकी सैफुल्लाह एक मुठभेड़ में मारा गया था. एटीएस ने कुछ अन्य संदिग्धों को पकड़ा भी है.

महाराष्ट्र तक जुड़े थे तार 

यूपी पुलिस के आतंकवाद रोधी दस्ते एटीएस ने महाराष्ट्र पुलिस के साथ मिलकर मुंबई से अल्ताफ भाई कुरैशी को गिरफ्तार किया है.

एटीएस के महानिरीक्षक असीम अरूण ने बताया कि महाराष्ट्र और यूपी एटीएस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए अल्ताफ कुरैशी को गिरफ्तार किया है.

अल्ताफ हवाला का अवैध कारोबार करता है और उसने आफताब के फैजाबाद के खाते में पैसा जमा किया था. अरूण के अनुसार, अल्ताफ के पास से 70 लाख रूपए नगद भी बरामद किए गए हैं.

पुलिस के अनुसार, आफताब फैजाबाद के मोबाइल फोन से छावनी इलाके की तस्वीरें मिली हैं. मोबाइल पर हुई उसकी बातचीत से और खुलासे होने की संभावना है.

अरूण ने बताया कि अल्ताफ से पूछताछ कर पता लगाया जा रहा है कि उसने किसके कहने पर आफताब के खाते में पैसा जमा किया.

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi

लाइव

Match 3: New Zealand 70/3Corey Anderson on strike