S M L

जम्मू कश्मीर: पाकिस्तानी चैनल दिखाने वालों पर होगी कार्रवाई

जम्मू कश्मीर में बिना मंजूरी के पाकिस्तानी और सऊदी चैनल प्रसारित किए जा रहे हैं

Bhasha | Published On: May 05, 2017 05:27 PM IST | Updated On: May 05, 2017 05:56 PM IST

0
जम्मू कश्मीर: पाकिस्तानी चैनल दिखाने वालों पर होगी कार्रवाई

सरकार ने शुक्रवार को कहा कि कश्मीर में पाकिस्तानी चैनलों का कथित अनाधिकृत प्रसारण करने वाले केबल ऑपरेटरों के उपकरण जब्त करने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने का स्थानीय प्रशासन के पास अधिकार है.

केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन राठौर ने कहा कि स्थानीय प्रशासन का यह दायित्व है कि वे अपने क्षेत्र में अनाधिकृत चैनलों की निगरानी करें तथा उनके खिलाफ कार्रवाई का भी स्थानीय प्रशासन के पास अधिकार है. कश्मीर में जिला अधिकारी या अधिकृत सरकारी अधिकारी उपकरण जब्त कर सकता है या उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकता है.

उन्होंने कहा कि सरकार ने जवाब भेज दिया है. राठौर ने इस बात पर बल दिया कि केंद्र द्वारा अनाधिकृत चैनलों के बारे में ऐसे परामर्श नियमित तौर पर जारी किए जाते हैं.

उन्होंने कहा, ‘जब भी ऐसी खबर आती है तो हम निगरानी रखते हैं. यह हमारा काम है कि ऐसी घटनाओं के बारे में रिपोर्ट तलब की जाए.’

बुरहान की मौत के विरोध में कशमीर में प्रदर्शन (REUTERS)

बुरहान की मौत के बाद, कशमीर में हो रहा विरोध प्रदर्शन (REUTERS)

आतंकियों के मारे जाने को शहीद बताते हैं पाकिस्तानी चैनल

सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री उन खबरों के बारे में प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे कि 50 से उपर सऊदी और पाकिस्तानी चैनल तथा जाकिर नाइक के प्रतिबंधित पीस टीवी एवं भारत विरोधी दुष्प्रचार करने वाले अन्य चैनलों को कश्मीर में निजी केबल नेटवर्क बिना आवश्यक मंजूरी के दिखा रहे हैं.

अधिकतर पाकिस्तानी चैनल हिजबुल मुजाहिद्दीन, लश्कर-ए-तैयबा और अन्य आतंकवादी समूहों के मारे जाने वाले आतंकियों को 'शहीद' बताते हैं. इसके अलावा इन चैनलों पर कश्मीर में चलाए जा रहे सेना के ऑपरेशन को मानवाधिकार का उल्लंघन बताया जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi