S M L

तवांग हेलिकॉप्टर हादसा: देश कब सीखेगा शहीदों का सम्मान करना?

वायुसेना के हेलिकॉप्टर क्रैश में मारे गए शहीद जवानों के शव जिस हाल में आए उससे पूरा देश शर्मसार हो गया

FP Staff Updated On: Oct 09, 2017 12:38 AM IST

0
तवांग हेलिकॉप्टर हादसा: देश कब सीखेगा शहीदों का सम्मान करना?

मातृभूमि की सेवा करते हुए देश का कोई जवान शहीद होता है तो उसके शव को तिरंगे में लपेट कर लाने का रिवाज है. सैनिक के पार्थिव शरीर को पूरे सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी जाती है. मगर अरुणाचल प्रदेश के तवांग इलाके में वायुसेना के हेलिकॉप्टर क्रैश में मारे गए सात लोगों के शव जिस हाल में आए उससे पूरा देश शर्मसार हो गया.

रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल एच एस पनाग ने लाए गए शवों की तस्वीरों को ट्विटर पर साझा करते हुए लिखा 'अपनी मातृभूमिक की सेवा करते हुए शुक्रवार को सात जवान शहीद हो गए. देखिए, किस तरह उनके शव लाए गए.'

जिस तरह इन शवों को लाया गया था वो उनका अपमान करने जैसा था. शवों को इस तरह से पैक कर लाया गया था मानो वो कोई एयरकंडीशनर हों जिसे एक जगह से दूसरी जगह ले जाया जाना हो.

रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल एच एस पनाग के इस ट्वीट पर गुस्से का इजहार करते हुए कई यूजर्स ने इसे रिट्वीट किया. तस्वीरों को शेयर करते हुए लोग इसे बहुत ही शर्मनाक बता रहे हैं.

पनाग ने कहा 'फौरी तौर पर अगर कॉफिन (ताबूत) का इंतजाम नहीं हो सका तो शवों को उचित तरीके से बैग में रखकर लाना चाहिए था.'

वायुसेना के एक प्रवक्ता के अनुसार, बीते शुक्रवार की शाम लगभग 7 बजे एमआई-17 हेलिकॉप्‍टर अरुणाचल प्रदेश के तवांग स्थित सुदूर पहाड़ियों में क्रैश हो गया था. वायुसेना का यह हेलिकॉप्टर तवांग के उत्तर में स्थित एक हेलीपैड से उड़ा था. वह पर्वतीय क्षेत्र में रसद लेकर भारतीय सेना की फॉर्वर्ड पोस्ट (अग्रिम चौकी) पर जा रहा था. दुर्घटना के फौरन बाद हेलिकॉप्टर में आग लग गई जिससे उसमें सवार वायुसेना के 5 अधिकारी, सेना के दो जवान और दो पायलटों की मौत हो गई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi