S M L

चंडीगढ़ छेड़खानी केस: पुलिस का दावा, CCTV से मिले अहम सुराग

चंडीगढ़ छेड़खानी मामले में पुलिस के हाथ अहम सुराग मिलने का दावा किया जा रहा है.

FP Staff Updated On: Aug 08, 2017 09:13 AM IST

0
चंडीगढ़ छेड़खानी केस: पुलिस का दावा, CCTV से मिले अहम सुराग

चंडीगढ़ छेड़खानी मामले में पुलिस के हाथ अहम सुराग मिलने का दावा किया जा रहा है. न्यूज18इंडिया के मुताबिक पुलिस को 5 जगहों से सीसीटीवी फुटेज मिली है. पुलिस के मुताबिक सीसीटीवी में कैद तस्वीरों को देखने के बाद साफ हो जाता है कि हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला का बेटा विक्टिम का पीछा कर रहा था.

पुलिस को ये फुटेज आस पास की बिल्डिंग और दुकानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों से मिली हैं. हालांकि अभी पुलिस ने ये साफ नहीं किया है कि नए सुराग मिलने के बाद वो केस में क्या नई धाराएं जोड़ेगी. इस बीच कांग्रेस और इंडियन नेशनल लोकदल ने चंडीगढ़ छेड़खानी मुद्दे को मंगलवार के दिन लोकसभा में उठाने का फैसला किया है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक डीजीपी तेजिंदर सिंह लूथरा ने कहा है कि पुलिस को सीसीटीवी फुटेज मिले हैं. जिसमें आरोपी पीड़िता का पीछा करते दिख रहे हैं. उन्होंने कहा, हमें जो सीसीटीवी फुटेज मिला है उसमें आरोपी टाटा सफारी से पीड़िता का पीछा कर रहे हैं. मैं फुटेज के सोर्स का खुलासा नहीं कर सकता. ये या तो पुलिस द्वारा या प्राइवेटली इन्सटॉल किए गए सीसीटीवी कैमरा हो सकते हैं.

सीसीटीवी को लेकर इससे पहले क्या दावा था ?

चंडीगढ़ पुलिस का दावा है कि जिस रास्ते में लड़की की कार का पीछा किया गया, उसके 5 लोकेशन के सीसीटीवी फुटेज खराब हैं. रास्ते में कुल 9 सीसीटीवी कैमरे थे जिनमें से सिर्फ 4 ही काम करते हुए मिले. यही नहीं न्यूज18इंडिया को सूत्रों के हवाले से ये भी जानकारी मिली कि पुलिस को इन 4 सीसीटीवी फुटेज में घटना से जुड़ी कोई अहम चीजें नहीं मिली हैं.

बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष ने लड़की पर ही उठाया सवाल

सोमवार को बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष रामवीर भट्टी ने कहा, वो लड़की इतनी रात को क्यों घूम रही थी? लड़की को 12 बजे के बाहर नहीं घूमना चाहिए था. भट्टी ने ये भी कहा कि माहौल सही नहीं है और हमें अपनी रक्षा खुद करनी पड़ती है, लड़की को इतनी रात बाहर नहीं घूमना चाहिए था.

हालांकि पार्टी के एक धड़े ने आरोपी के पिता और बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला पर कार्रवाई की मांग की. बीजेपी सांसद राजकुमार सैनी ने कहा कि सुभाष बराला पर कार्रवाई होनी चाहिए.

सीएम ने क्या कहा ?

हालांकि सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि कानून नियम के मुताबिक कार्य करेगा. पूरे मामले में पार्टी और सुभाष बराला का कोई रोल नहीं है. उन्होंने संकेत दिया कि पार्टी उनके ऊपर कोई कार्रवाई नहीं करेगी.

क्या है पूरा मामला

विकास बराला और आशीष कुमार ने सीनियर आईएएस की बेटी की कार का पीछा किया था. उन्होंने लड़की के कार का दरवाज़ा भी खोलने की कोशिश की. लड़की के कई बार फोन करने पर पुलिस वहां पहुंची और दोनों लड़कों को गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तारी के अगले ही दिन आशीष बराला को जमानत मिल गई. जांच में पाया गया कि आशीष बराला ने शराब पी रखी थी. पीड़ित ने इस पूरे वाकये को फेसबुक पर बयां किया था. हालांकि कांग्रेस समेत विपक्ष का आरोप है कि आशीष को पुलिस पर दबाव डालकर बचाया गया. आशीष, बीजेपी हरियाणा के अध्यक्ष और विधायक सुभाष बराला का बेटा है.

(साभार न्यूज 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi