S M L

आईटी इंडस्ट्री में लगातार छंटनी से नारायण मूर्ति दुखी

आईटी सेक्टर में चुनौतीपूर्ण परिवेश के बीच इनफोसिस ने घोषणा की कि वह मध्य और वरिष्ठ स्तर के सैकड़ों कर्मचारियों को 'पिंक स्लिप' पकड़ा सकता है

FP Staff Updated On: May 26, 2017 08:40 PM IST

0
आईटी इंडस्ट्री में लगातार छंटनी से नारायण मूर्ति दुखी

आईटी सेक्टर के कर्मचारियों को लागत में कटौती होने के कारण नौकरी से हटाया गया था, जिसकी वजह से इनफोसिस के संस्थापक चेयरमैन एन आर नारायण मूर्ति ने इस पर शुक्रवार को दुख जताया.

मूर्ति ने इस संबंध में पूछे गए सवाल पर कहा, 'यह काफी दुख पहुंचाने वाला है.' हालांकि, उन्होंने इस बारे में आगे ज्यादा कुछ नहीं कहा.

बता दें कि आईटी सेक्टर में चुनौतीपूर्ण परिवेश के बीच इनफोसिस ने घोषणा की है. वह अर्धवार्षिक कार्य प्रदर्शन की समीक्षा करते हुए अपने मध्य और वरिष्ठ स्तर के सैकड़ों कर्मचारियों को 'पिंक स्लिप' पकड़ा सकता है.

इनफोसिस में यह घटनाक्रम ऐसे समय सामने आया है. जब उसके समकक्ष दूसरी कंपनियां विप्रो और कॉग्निजेंट भी अपनी लागत को नियंत्रित करने के लिए ऐसे ही कदम उठा रही हैं.

 स्वैच्छिक सेवानिवृति कार्यक्रम 

अमेरिका की कंपनी कॉग्निजेंट ने अपने निदेशकों, सहायक उपाध्यक्षों और वरिष्ठ उपाध्यक्षों को 6 से 9 महीने की सैलरी पेशकश करते हुए स्वैच्छिक सेवानिवृति कार्यक्रम की पेशकश की है.

विप्रो ने भी अपने सालाना कार्य प्रदर्शन आकंलन के हिस्से के तौर पर करीब 600 कर्मचारियों को नौकरी छोड़ने के लिए कहा है. इस बारे में ऐसी भी चर्चा है कि यह संख्या 2,000 तक पहुंच सकती है.

अगले तीन साल तक आईटी सेक्टर में सालाना 1.75 लाख से दो लाख के बीच रोजगार के अवसर में कटौती की जा सकती है. नई प्रौद्योगिकी अपनाने और उसकी तैयारी के चलते कंपनियां इस तरह के कदम उठा रही हैं.

न्यूज़ 18 साभार

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi