S M L

LIVE गोरखपुर त्रासदी: पहली बार नहीं हुआ है ऐसा हादसा: अमित शाह

हादसे के बाद कई नेता गोरखपुर पहुंच रहे हैं

FP Staff | August 14, 2017, 06:44 PM IST

0

हाइलाइट

Aug 14, 2017

  • 20:11(IST)

    ताजा खबर के मुताबिक बीआरडी अस्पताल में इनसेफलाइटिस से 8 साल के एक बच्चे की मौत हो गई है.

  • 18:41(IST)

    बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का कहना है कि कांग्रेस का काम ही है इस्तीफ़ा मांगना. उन्होंने कहा, 'इतने बड़े देश में बहुत सारे हादसे हुए हैं. पहली बार ऐसा हादसा नहीं हुआ है. कांग्रेस के राज में भी ऐसा हुआ है. इस मामले पर राजनीति नहीं होनी चाहिए.

  • 18:29(IST)

    बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ऑफिस के मुताबिक 7 अगस्त से 13 अगस्त तक शिशु रोग विभाग में 85 मौतें हो चुकी हैं.

  • 18:25(IST)

    यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव गोरखपुर पहुंचे हैं. उन्होंने बेलवार गांव जा कर एक पीड़ित परिवार से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के द्वारा सभी पीड़ित परिवारों को 2-2 लाख रूपए दिए जाएंगे.

  • 16:36(IST)

  • 16:09(IST)

    समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उत्तर प्रदेश के स्वस्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह को इलाहाबाद में काले झंडे दिखाए जिसके बाद 5 लोगों को हिरासत में ले लिया गया.

  • 15:59(IST)

    वरिष्ठ सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि इस गंभीर मामले की न्यायिक जांच होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि इस मामले की जिम्मेदारी खुद सीएम योगी आदित्यनाथ से शुरू होती है.

  • 15:15(IST)

  • 14:46(IST)

    बच्चों की मौत पर संज्ञान लेते हुए राष्ट्रीय मनावाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने योगी सरकार को नोटिस जारी कर दिया है. एनएचआरसी ने कहा है कि यह जीवन के अधिकार का गंभीर उल्लंघन है और इस पर यूपी सरकार चार हफ्ते के भीतर रिपोर्ट दे कि आखिर राज्य सरकार इस मामले में क्या कार्रवाई कर रही है.

  • 13:42(IST)
  • 12:56(IST)

    इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के अधिकारियों से भव्य स्तर पर कृष्ण जन्माष्टमी मनाने को कहा है. उन्होंने रविवार को डीजीपी सुलखान सिंह को निर्देश दिए हैं कि कृष्ण जन्माष्टमी अहम पर्व है और पुलिस को इसे पारंपरिक और भव्य स्तर पर आयोजित करना चाहिए.

  • 12:38(IST)

    बीआरडी मेडिकल कॉलेज में मृतकों के परिजनों से मिलने के लिए अखिलेश यादव गोरखपुर के लिए रवाना.

  • 12:34(IST)

    गोरखपुर में पीड़ितों से मिलने जाएंगे समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव.

  • 12:34(IST)

    मैं किसी डॉक्टर पर व्यक्तिगत टिप्पणी नहीं करना चाहता, लेकिन दोषी बच नहीं पाएंगे: डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य

  • 12:33(IST)

    मृतकों को वापस नहीं ला सकते. लेकिन उनके परिवार के साथ पूरी संवेदना है: गोरखपुर मामले पर यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य
     

  • 14:34(IST)

    कोई भी दोषी छोड़ा नहीं जाएगा. चीफ सेक्रेटरी की रिपोर्ट आने दीजिए. 9 अगस्त को ही मैंने कह दिया था कि जनहानि बर्दाश्त नहीं की जाएगी: योगी

  • 14:29(IST)

    ये सियासत नहीं संवेदना का समय है. इंसेफेलाइटिस का समाधान होना चाहिए. कांग्रेस आज जो बात कह रही है. गुलाम नबी आजाद जब स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए यहां आए थे. तो उन्होंने इसे राज्य की समस्या बताया था. अब वो इस पर राजनीति कर रहे हैं: सीएम योगी

  • 14:26(IST)

    पिछले संसद के सत्र में हमने मेडिकल रिसर्च सेंटर को हरी झंडी दी है. जो 85 करोड़ की मदद से गोरखपुर में बनाया जाएगा. जिससे यहां काफी लाभ होगा. भारत सरकार से जो कुछ भी उपेक्षित होगा वो हमने पहले भी दिया और अब भी देंगे: जे.पी नड्डा

  • 14:26(IST)

    शुरू से यूपी और गोरखपुर को मेडिकल सेवाएं देने के लिए हम अग्रसर रहे हैं. हमने एम्स जैसा अस्पताल देने की पहल की है. योगी जी संसद में सांसद के नाते इंसेफेलाइटिस का मुद्दा उठाते रहे हैं: जे.पी नड्डा

  • 14:23(IST)

    प्रधानमंत्री मोदी ने गोरखपुर को एम्स जैसा अस्पताल दिया है. 

  • 14:21(IST)

    कमेटी काम कर रही है उसकी रिपोर्ट आने दीजिए. इससे ज्यादा बोलना उचित नहीं होगा: योगी आदित्यनाथ

  • 14:18(IST)

    कमेटी की रिपोर्ट एक बार आने दीजिए. केवल गोरखपुर ही नहीं यूपी में किसी की लापरवाही से जनहानि होगी. सरकार उसको बख्शेगी नहीं. चीफ सेक्रेटरी की अध्यक्षता में कमेटी बनाई गई है. सरकार पर भरोसा रखिए: योगी

  • 14:15(IST)

    इस पीड़ा को मुझसे ज्यादा कोई नहीं समझ सकता. इस पर सच्चाई जानने के लिए हमें प्रयत्न करना चाहिए. प्रत्येक पत्रकार को फोटोग्राफर के साथ बीआरडी कॉलेज का दौरा करना चाहिए. स्वाइन फ्लू एक नई बीमारी बनती जा रही है. डेंगू, चिकनगुनिया के लिए मैंने 9 अगस्त को हुई बैठक पर इस बारे में अधिकारियों से पूछा था: सीएम

  • 14:13(IST)

    9 अगस्त को जब मैं गोरखपुर आया तो मैंने उच्च स्तरीय बैठक भी की थी. जिसमें मैंने एक-एक से इंसेफेलाइटिस के लिए पूछा था कि इसके खिलाफ हम कैसे लड़ रहे हैं मुझे स्पष्ट करें. मैं 1996-97 से इस लड़ाई के खिलाफ लड़ रहा हूं: योगी आदित्यनाथ

  • 14:11(IST)

    इस लड़ाई को शुरू से हम लोग लड़ते रहे हैं. इंसेफेलाइटिस के खिलाफ हमने वैक्सीनेशन अभियान चलाया था. मुख्यमंत्री बनने के बाद मेरा चौथा दौरा है बीआरडी मेडिकल कॉलेज का: सीएम योगी

  • 14:11(IST)

    प्रधानमंत्री मोदी ने स्वास्थ्य मंत्री जे.पी नड्डा को गोरखपुर भेजा है. सिद्धार्थनाथ सिंह जी को भी हमने गोरखपुर रिपोर्ट तैयार करने के लिए भेजा है. पीएम मोदी गोरखपुर की खबरों से चिंतित हैं. पीएम मोदी ने हर संभव मदद की बात कही.

  • 14:09(IST)

    यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बीआरडी मेडिकल कॉलेज का दौरा करने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं. 

  • 13:33(IST)

    योगी आदित्यनाथ थोड़ी देर में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे.

  • 13:17(IST)

    योगी और नड्डा ने मरीजों का हालचाल जाना.

  • 13:10(IST)
LIVE गोरखपुर त्रासदी: पहली बार नहीं हुआ है ऐसा हादसा: अमित शाह

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बीआरडी मेडिकल कॉलेज में कथित रूप से ऑक्सीजन की कमी के कारण हुई करीब 63 लोगों की मौत का मामला बड़ी त्रासदी में तब्दील हो गया है. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, इनसेफेलाइटिस (दिमागी बुखार) से जूझ रहे 11 साल के एक और बच्चे की मौत हो गई है. जिससे मरने वालों की संख्या बढ़कर अब 63 हो गई है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में पिछले पांच दिनों 60 बच्चों की मौत हुई है.

इससे पहले अस्पताल में हुई इन मौतों की खबर सामने आते ही सूबे के शासन प्रशासन में हड़कंप मच गया. सरकार से लेकर प्रशासनिक अधिकारी इस खबर पर सफाई देते नजर आए. असल में गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 10 अगस्त की शाम से लिक्विड ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित हो गई थी. इससे पूरे अस्पताल में मौजूद मरीजों को दिक्कत का सामना करना पड़ा.

News18 India के पास ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी का वो पत्र है जो उन्होंने एक अगस्त को लिखा था. इस पत्र में साफ तौर पर बकाए के भुगतान की बात लिखी गई है. करीब 64 लाख रुपए के बकाए के भुगतान के संबध में लिखे गए इस पत्र में कंपनी साफ तौर पर कह रही है कि भुगतान न होने पर वह गैस की सप्लाई नहीं कर पाएगी.

gorakhpur-letter

इसके अलावा मेडिकल कॉलेज में लिक्विड ऑक्सीजन की कमी के बारे में बनी रिपोर्ट भी साफ तौर पर बता रही है कि अस्पताल में 10 अगस्त को शाम साढ़े सात बजे ऑक्सीजन का प्रेशर लो होने लगा. ऑक्सीजन प्रेशर लो होने के बाद रिजर्व रखे 52 सिलेंडर को लगाकर काम चलाया गया. फैजाबाद से रात डेढ़ बजे 50 सिलेंडर अस्पताल पहुंचे. फैजाबाद से ही सुबह साढ़े आठ बजे सिलेंडर फिर से अस्पताल में मंगाए गए.

gorakhpur-letter (1)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi