S M L

जंक फूड के खिलाफ जंग: FSSAI ने की अधिक टैक्स लगाने की सिफारिश

विशेषज्ञ पैनल ने बहुत अधिक प्रोसेसड फूड और हाई शुगर लेवल वाले बेवरजेस पर ज्यादा टैक्स लगाने का सुझाव दिया है

Bhasha | Published On: May 08, 2017 11:59 PM IST | Updated On: May 08, 2017 11:59 PM IST

जंक फूड के खिलाफ जंग: FSSAI ने की अधिक टैक्स लगाने की सिफारिश

जंक फूड और अनहेल्दी खाने से सेहत को होने वाले नुकसान को कम करने के लिए खाद्य नियामक एफएसएसएआई ने इनपर अधिक टैक्स लगाने की वकालत की है.

एफएसएसएआई के एक विशेषज्ञ पैनल ने बहुत अधिक प्रोसेसड फूड और हाई शुगर लेवल वाले बेवरजेस पर ज्यादा टैक्स लगाने का सुझाव दिया है. इसके अलावा, बच्चों के चैनलों और टेलीविजन पर बच्चों के शो के दौरान इनके विज्ञापनों पर पाबंदी लगाने की भी सिफारिश की गई है.

अनहेल्दी फूड प्रोडक्ट का उपभोग कम हो

‘फैट, शुगर और सॉल्ट (एफएसएस) का उपभाग एवं भारतीय जनसंख्या पर उसके प्रभाव’ विषय पर ग्यारह सदस्यों के पैनल की रिपोर्ट में अनहेल्दी फूड प्रोडक्ट का उपभोग कम करने और कैंसर-मधुमेह जैसे रोगों का बोझ कम करने के उपाय सुझाए गए हैं.

Fast Food

एफएसएएसआई ने दवा, पोषण जैसे क्षेत्रों तथा नामी-गिरामी मेडिकल रिसर्च और एजुकेशनल संस्थानों के आहार विशेषज्ञों का एक पैनल बनाया था.

रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर प्री-पैकेज्‍ड फूड, ज्‍यादा सॉल्‍ट और फैट वाले खाने पर अगर अधिक टैक्‍स लगा दिया जाएगा, तो इससे इनकी खपत में कमी आएगी. पैनल के मुताबिक अनहेल्‍थी फूड पर ज्‍यादा टैक्‍स वसूलने से लोग हेल्‍दी फूड की तरफ बढ़ेंगे. इससे मिलने वाले टैक्‍स से सरकार के न्‍यूट्रीशन संबंधी प्रोग्राम को बढ़ाया जा सकता है.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi