S M L

फारूक ने कहा, रमजान में भारत 'एकतरफा संघर्ष विराम' रखे

पाकिस्तान 2003 से भारत-पाक संघषर्विराम का लगातार उल्लंघन कर रहा है

Bhasha | Published On: May 14, 2017 11:25 PM IST | Updated On: May 14, 2017 11:25 PM IST

फारूक ने कहा, रमजान में भारत 'एकतरफा संघर्ष विराम' रखे

अटल बिहारी वाजपेयी का हवाला देते हुए नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की कि पवित्र महीना रमजान के दौरान भारत-पाक सीमा पर ‘एकतरफा संघर्ष विराम’ की घोषणा करें.

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने संवाददाताओं से कहा कि ‘साहसिक’ कदम से दिखेगा कि भारत शांति चाहता है और मुद्दे के समाधान के लिए वार्ता को तैयार है.

अब्दुल्ला ने यहां कहा, ‘मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील करूंगा. रमजान नजदीक आ रहा है. यह कुछ दिनों बाद शुरू हो रहा है. अगर वे एकतरफा संघर्ष विराम की घोषणा करेंगे तो अच्छा होगा.’

पाकिस्तान की गोलीबारी में दो लोग मारे गए थें

एक दिन पहले ही राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान की भारी गोलीबारी में दो लोग मारे गए थे.

नेकां के नेता के बयान पर बीजेपी ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई और उप मुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने कहा कि यह सलाह अब्दुल्ला पाकिस्तान को क्यों नहीं देते जो 2003 से भारत-पाक संघषर्विराम का लगातार उल्लंघन कर रहा है और नागरिक ठिकानों को निशाना बना रहा है.

इससे पहले 11 मई को भी पाक ने नौशेरा सेक्टर में गोलाबारी की थी, वो भी ऑटोमैटिक हथियार,81 एमएम और 120 एमएम मोर्टार से. उस दिन भी एक महिला की मौत हो गई थी. इस साल नौशेरा सेक्टर में ही पाक की ओर से सबसे अधिक युद्धविराम का उल्‍लंघन हुआ है, करीब 40 दफा से अधिक. जबकि इस साल जम्मू-कश्मीर में करीब 70 बार से अधिक युद्धविराम का उल्‍लंघन हुआ है.

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi