S M L

महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़नवीस यूं दे चुके हैं तीन बार मौत को मात

देवेंद्र फड़नवीस पिछले 3 महीने में 3 बार हवाई दुर्घटना में बाल-बाल बचे हैं

FP Staff | Published On: Jul 10, 2017 10:23 PM IST | Updated On: Jul 10, 2017 10:23 PM IST

0
महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़नवीस यूं दे चुके हैं तीन बार मौत को मात

भारत के दो बड़े नेताओं की मौत प्लेन क्रैश में हो चुकी है. ये नेता थे संजय गांधी और माधवराव सिंधीया, जिनके साथ हुए हादसों ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था. लेकिन आज के दौर में एक नेता ऐसा भी है जिसने एक-दो बार नहीं, बल्कि 3 महीने में तीन बार हवाई घटनाओं में मौत को मात दी है.

ये नेता कोई और नहीं बल्कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस हैं. आइए सिलसिलेवार तरीके से जानते हैं कि कब और कैसे सीएम फड़नवीस इन घटनाओं में बचे बाल-बाल.

सीएम के बैठने के दौरान अचानक टेकऑफ करने लगा हेलीकॉप्टर

ताजा घटना है 7 जुलाई 2017 की. इस दिन सीएम फड़नवीस को महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में अलीबाग कस्बे से एक कार्यक्रम खत्म कर जल्द मुंबई लौटना था. चूंकि जल्द से जल्द मुंबई पहुंचना था इसलिए सीएम के हेलीकॉप्टर में बैठने के पहले ही पायलट ने हेलीकॉप्टर स्टार्ट कर दिया था. फड़नवीस ने बैठने के लिए जैसे ही हेलीकॉप्टर का दरवाजा खोला तभी वो अचानक टेकऑफ होने लगा. हेलीकॉप्टर करीब-करीब 2 से 3 फीट ऊपर उठा गया.

सीएम उस वक्त जमीन पर ही थे और हेलिकॉप्टर का पंखा तेजी से चलने लगा. हेलीकॉप्टर के पंखे का ब्लेड फड़नवीस के सिर के काफी करीब से तेज रफ्तार में घूम रहा था. सीएम की जान खतरे में देख वहां मौजूद सुरक्षा अधिकारी ने सीएम को हेलीकॉप्टर से बाहर खींचा और किसी तरह उनकी जान बचाई.

जब फड़नवीस के हेलीकॉप्टर की हुई इमरजेंसी लैंडिंग

अलीबाग वाली घटना के तकरीबन एक महीना पहले सीएम फड़नवीस के साथ महाराष्ट्र के लातूर में एक बड़ा हादसा होते-होते रहा था. 25 मई को हुई लातूर घटना के पलपल की तस्वीर कैमरे में कैद हो गई थी. यहां पर कार्यक्रम खत्म कर फड़नवीस अपने अधिकारीयों के साथ हेलीकॉप्टर में बैठ गए. हेलीकॉप्टर करीब 60 से 80 फीट आसमान में था तभी पायलट को कुछ तकनीकी गड़बड़ी की वजह से इमरजेंसी लैंडिग के लिए प्लेन उतारने का फैसला करना पड़ा.

हेलीकॉप्टर जैसे ही नीचे उतरने लगा, तभी तेज हवाओं की वजह से हेलीकॉप्टर ने संतूलन खो दिया और उसके पंखे तारों में फंस गए. पंखों के तारों पर लगते ही एक चिंगारी भी निकली. कभी भी हेलीकॉप्टर क्रैश हो सकता था, लेकिन पायलट की समझदारी की वजह से सेफ लैंडिग हुई और सीएम की जान बाल-बाल बच गई. इस हादसे के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने फड़नवीस को फोन कर उनका हालचाल पूछा था.

जब देवेंद्र फड़नवीस के हेलीकॉप्टर के इंजन में आई थी खराबी

देवेंद्र फड़नवीस के साथ इस तरह का पहला हादसा 12 मई 2017 को हुआ था. महाराष्ट्र के गडचिरोली के अहेरी तालुका में स्थानीय पुलिस मुख्यालय के एक कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद सीएम को नागपूर जाना था. सीएम हेलीकॉप्टर में बैठ गए.

हेलीकॉप्टर टेकऑफ के लिए तैयार था लेकिन जैसे ही ग्रीन सिग्नल मिला उसी वक्त पायलट को इंजन में कुछ खराबी महसूस हुई. इसी के चलते फौरन सीएम को नीचे उतारा गया. घटना के बाद मिली जानकारी में पता लगा कि अगर उस वक्त सही समय पर इंजन में खराबी का पता नहीं चलता तो बड़ा हादसा हो सकता था.

ऐसी खतरनाक घटनाओं के बाद फड़नवीस के परिवार के लोग थोड़े डरे हुए हैं. लेकिन, महाराष्ट्र की कमान संभाल रहे देवेंद्र फड़नवीस आज भी निडर होकर हेलीकॉप्टर में सफर कर रहे हैं.

साभार: न्यूज़18 हिंदी

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi