S M L

दिल्ली के ई-रिक्शा चालक मर्डर केस में डीयू के दो छात्र गिरफ्तार

दोनों आरोपियों को मेट्रो स्टेशन के पास एक शराब की दुकान और नार्थ कैंपस से मिले सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पकड़ा गया

Bhasha Updated On: Jun 01, 2017 12:00 AM IST

0
दिल्ली के ई-रिक्शा चालक मर्डर केस में डीयू के दो छात्र गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने जीटीबी नगर मेट्रो स्टेशन के बाहर ई-रिक्शा चालक मर्डर केस में दो और आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने आरोपी शेखर कपासिया और किशोर को बुधवार सुबह यूपी के मुजफ्फरनगर से पकड़ा.

शेखर कपासिया दिल्ली यूनिवर्सिटी के अरविंदो कालेज से बी.कॉम आनर्स कर रहा है. जबकि, दूसरा आरोपी किशोर स्कूल आफ ओपन लर्निंग में राजनीतिक विज्ञान का छात्र है. दोनों आरोपियों को मेट्रो स्टेशन के पास एक शराब की दुकान और नार्थ कैंपस से मिले सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पकड़ा गया.

पुलिस के मुताबिक आरोपी दोनों युवक दोस्त हैं. वो दोनों अपने गृह नगर में एक ही स्कूल में छात्र थे. इसके अलावा, दोनों ने अंग्रेजी की एक ही कोचिंग क्लास में पढ़ाई की है. 19 साल का शेखर कपासिया बुराड़ी स्थित संतनगर का रहने वाला है. जबकि, किशोर विजयनगर का निवासी है.

सूत्रों ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद दोनों ने पुलिस के इस दावे को खारिज किया कि 32 साल के रवींद्र कुमार द्वारा दोनों को मेट्रो स्टेशन के बाहर खुले में पेशाब करने से रोकने के बाद लोगों के समूह ने रवींद्र की पिटाई की थी.

पुलिस ने बताया कि घटना के बारे में उनके दिए ब्योरे की भी पड़ताल की जाएगी. ज्वाइंट सीपी (उत्तर क्षेत्र) राजेश खुराना ने कहा कि इस मामले में पांच और लोगों की पहचान की गई है. उन्हें पकड़ने के लिए छापेमारी जारी है.

तफ्तीश के दौरान 300 छात्रों के प्रवेश पत्र की जांच

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार केस की तहकीत के दौरान लगभग 300 छात्रों के प्रवेश पत्र की जांच की गई.

पुलिस ने बताया कि बीते सप्ताह अंतिम परीक्षा देने के बाद दोनों अपने गृह नगर के लिए निकल गए थे. घटना की खबर टीवी पर देखने के बाद ही उन्हें पता चला कि ई-रिक्शा चालक की मौत हो गई है.

पिछले हफ्ते हुई इस घटना ने देश भर में सुर्खियां बटोरी थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना की निंदा करते हुए अधिकारियों को दोषियों को गिरफ्तार कर सजा देने का निर्देश दिया था. प्रधानमंत्री ने मृतक ई-रिक्शा चालक रवींद्र के परिवार वालों के लिए प्रधानमंत्री राहत कोष से एक लाख रुपए की सहायता राशि देने की भी घोषणा की थी.

बुधवार को ही एनडीएमसी की मेयर ने मृतक ई-रिक्शा चालक की पत्नी से मिलकर उन्हें नियुक्ति पत्र सौंपा.

पिछले हफ्ते दिल्ली के जीटीबी नगर मेट्रो स्टेशन के बाहर दो लोगों को पेशाब करने से रोकने पर ई-रिक्शा चालक रवींद्र कुमार की कुछ लोगों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi