S M L

ऐप आधारित शेयर टैक्सी के इस्तेमाल में दिल्ली, मुंबई टॉप पर

कैब सर्विस के साझा सर्विस से यात्रा करने से ईंधन की बचत और प्रदूषण स्तर में कमी आती है

Bhasha | Published On: Jun 05, 2017 09:12 PM IST | Updated On: Jun 05, 2017 09:12 PM IST

0
ऐप आधारित शेयर टैक्सी के इस्तेमाल में दिल्ली, मुंबई टॉप पर

दिल्ली और मुंबई में देश के दूसरे शहरों की तुलना में अधिक लोग टैक्सी से यात्रा शेयर करते हैं. देश के इन दोनों बड़े शहरों में ओला और उबर जैसे ऐप आधारित कैब संचालकों के जरिए शेयर्ड टैक्सी सफर को लोग अधिक तरजीह देते हैं.

‘ओला शेयर’ और ‘उबर पूल’ के तहत ग्राहकों को सस्ता सफर करने का मौका मिलता है. ऐसी सेवाओं में एक ही दिशा में जाने वाले कई यात्री एक गाड़ी में सवार हो जाते हैं. इससे न केवल सड़कों पर कारों की संख्या और प्रदूषण कम होता है बल्कि उनपर किराए का भार भी कम आता है.

बेंगलुरू आधारित ओला के अनुसार पिछले एक साल में ओला शेयर के सफर में 500 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. कंपनी का दावा है कि उन्हें इस सेवा के जरिए अक्टूबर, 2015 से 1.2 करोड़ किलो कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन घटाई है. साथ ही 70 लाख लीटर से अधिक ईंधन की भी बचत की है. ओला देश के 26 अलग-अलग शहरों में शेयर्ड राइड की सुविधा देती है.

OLA UBER

ओला भारत के 26 शहरों में यात्रियों को शेयर राइड की सर्विस देता है

प्रदूषण घटाने और ईंधन बचाने में मदद मिलती है

ओला के सीओओ विशाल कौल ने कहा, ‘दिल्ली, बेंगलुरू, मुंबई, हैदराबाद और कोलकाता जैसे शहर ओला शेयर के सबसे बड़े यूजर्स हैं.’ वहीं, उबर ने कहा कि भारत के सात शहरों में उबर पूल शुरू करने से देश में 34.49 लाख लीटर ईंधन की बचत हुई है. इसके अलावा 81.22 लाख किलो कार्बन डाइऑक्साइड का उत्सर्जन घटाने में भी मदद मिली है.

उबर इंडिया की नीति प्रमुख श्वेता राजपाल कोहली ने कहा, ‘लाखों लोग अपना सफर शेयर करना चाहते हैं. यह बात हमें विश्वास दिलाता है कि हम कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने के लिए सकारात्मक बदालव लाने की दिशा में बढ़ रहे हैं.’

दिल्ली में उबर के 28 फीसदी और मुंबई में 30 फीसदी यात्री पूल से अपना सफर तय करते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi