विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

डीडीए हाउसिंग स्कीम: फॉर्म के खरीदार ही नहीं मिल रहे तो कैसे बिकेंगे फ्लैट?

डीडीए ने 30 जून को नया हाउसिंग स्कीम लॉन्च किया था. इसके लिए लगभग पांच लाख फॉर्म छपवाए गए थे

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: Jul 14, 2017 07:36 PM IST

0
डीडीए हाउसिंग स्कीम: फॉर्म के खरीदार ही नहीं मिल रहे तो कैसे बिकेंगे फ्लैट?

डीडीए हाउसिंग स्कीम लॉन्च हुए दो हफ्ते बीत चुके हैं. लेकिन, डीडीए फॉर्म के खरीदार ढूंढने पर भी नहीं मिल रहे हैं. पिछले दो हफ्ते में सिर्फ 33 हजार फॉर्म ही बेचे गए हैं.

डीडीए ने 30 जून को नया हाउसिंग स्कीम लॉन्च किया था. इसके लिए लगभग पांच लाख फॉर्म छपवाए गए थे. ब्रोशर की कीमत 200 रुपए निर्धारित की गई.

इससे पहले हाउंसिंग स्कीम 2014 में इसकी कीमत 150 रुपए थी. इस बार के ब्रोशर में खास बात ये है कि इसमें फ्लैट का इंटरनल डिजाइन भी छपा हुआ है.

2017 की हाउसिंग स्कीम में दिलचस्पी नहीं ले रहे हैं लोग

ऐसा माना जा रहा है कि साल 2017 के इस हाउसिंग स्कीम में 11 हजार से अधिक वैसे फ्लैट्स शामिल किए गए हैं, जो साल 2014 के डीडीए स्कीम में लोगों को आवंटित हुए थे. आवंटित हुए इन फ्लैट्स को खरीदारों ने कई खामियां बताते हुए डीडीए को वापस कर दिया था.

माना यह जा रहा है कि पुराने फ्लैट्स होने के कारण लोग अभी तक साल 2017 के हाउसिंग स्कीम में दिलचस्पी नहीं ले रहे हैं.

हलांकि, ऑनलाइन फॉर्म लगभग डेढ़ लाख डाउनलोड हो चुके हैं. लेकिन, इसका मुख्य कारण उसका मुफ्त होना माना जा रहा है.

हम आपको बता दें कि ऑनलाइन फॉर्म भरने वाले लोगों के लिए फॉर्म जमा कराते वक्त फॉर्म की कीमत 200 रुपए चुकानी होगी.

डीडीए के एक अधिकारी के मुताबिक, ‘कई बड़े बैंकों द्वारा लोन की योजना अभी तक शुरू नहीं किए जाने के कारण लोगों की रूचि इस योजना में घटी है. लेकिन, जैसे ही बैंकों के द्वारा लोन की योजना शुरू कर दी जाएगी फॉर्म की बिक्री और उसे जमा कराने वालों की संख्या में काफी इजाफा होगा.

दिल्ली में फ्लैट खरीदने के इच्छुक लोगों की तदाद काफी संख्या में है. दिल्ली डेवलेपमेंट अथॉरिटी यानी डीडीए ने हाउसिंग स्कीम 2017 लॉन्च करते वक्त दिल्ली के लोगों का विशेष ख्याल रखने की बात कही थी. इस स्कीम में 12 हजार 72 फ्लैट्स हैं. डीडीए फ्लैट्स में से ज्यादातर रोहिणी, द्वारका, नरेला, वसंत कुंज और जसोला में हैं.

DDA

डीडीए स्कीम में सबसे ज्यादा फ्लैट रोहिणी सेक्टर 34 और 35 में हैं

डीडीए ने बिचौलिए पर लगाम लगाने और बाजार की अटकलों की जांच करने के लिए इस बार कई स्तरों पर जुर्माना लगाने की व्यवस्था की है. डीडीए के एक अधिकारी के अनुसार अगर कोई भावी खरीदार ड्रॉ निकलने की तारीख से पहले अपना आवेदन वापस लेता है तो उसके रजिस्ट्रेशन फीस से कोई राशि काटी नहीं जाएगी.

अगर कोई खरीदार ड्रॉ तारीख के बाद लेकिन डिमांड लेटर जारी होने से पहले ऐसा करता है तो रजिस्ट्रेशन फीस की 25 फीसदी राशि जब्त कर ली जाएगी और अगर डिमांड लेटर जारी होने के बाद लेकिन 90 दिनों के भीतर फ्लैट लौटाया जाता है तो 50 फीसदी फीस जब्त कर ली जाएगी. इसके बाद की अवधि के लिए पूरी रजिस्ट्रेशन फीस जब्त कर ली जाएगी.

डीडीए की इस स्कीम में सबसे ज्यादा फ्लैट रोहिणी सेक्टर 34 और 35 में हैं. बता दें डीडीए हर साल हाउसिंग स्कीम को लॉन्च करता है. इसके लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से आवेदन मंगाए जाते हैं. विजेताओं की सूची ड्रॉ द्वारा निकाली जाती है. डीडीए स्कीम के तहत फ्लैटों के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 11 अगस्त निर्धारित की गई है.

डीडीए की अगली आवासीय योजना दिसंबर 2018 में लॉन्च करने की प्लानिंग है. डीडीए कोशिश कर रही है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को दिल्ली में अपना घर नसीब हो सके.

डीडीए अगले पांच साल तक हर साल करीब 20 हजार फ्लैटों की नई आवासीय योजना ले कर आने की बात तो जरूर कर रही है लेकिन, डीडीए फ्लैटों के गिरते स्तर और बढ़ते दाम को लेकर लोगों के मन में कई सवाल हैं जिसका जवाब डीडीए को देना चाहिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi