S M L

मलेशियाई नागरिकता हासिल करने की फिराक में है जाकिर नाईक

मलेशिया ने नाईक की नागरिकता की मांग पर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है

Bhasha | Published On: May 30, 2017 09:17 PM IST | Updated On: May 30, 2017 09:43 PM IST

मलेशियाई नागरिकता हासिल करने की फिराक में है जाकिर नाईक

अपने जहर भरे भाषणों के लिए चर्चित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाईक ने मलेशिया की नागरिकता के लिए आवेदन किया है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने यह जानकारी दी है.

एनआईए ने कहा कि जाकिर नाईक के खिलाफ जब से रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने को लेकर इंटरपोल से संपर्क किया गया है तब वे वह लगातार अपने ठिकाने बदल रहा है.

सूत्रों ने बताया कि समझा जाता है कि प्रचारक का मलेशिया में स्थायी आवास है. अब उसने वहां की नागरिकता की मांग की है लेकिन उसके आवेदन पर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है.

उन्होंने कहा कि विवादास्पद प्रचारक के किसी भी देश की नागरिकता हासिल करने के प्रयासों को खत्म करने के लिए भारत सरकार अपने सभी राजनयिक चैनलों का इस्तेमाल करने की योजना बना रही है.

आतंकवाद, अवैध तरीके से धन जुटाने के आरोपों की जांच

उन्होंने कहा कि मलेशिया के अधिकारी विवादास्पद इस्लामिक प्रचारक के खिलाफ लंबित आतंकवाद के मामलों से वाकिफ हैं. नाईक के खिलाफ आतंकवाद और अवैध तरीके से धन जुटाने के आरोपों की जांच चल रही है.  जांच शुरू होने के तुरंत बाद वह देश से बाहर भाग गया था. नाईक पिछले साल एक जुलाई को भारत से फरार होने में कामयाब रहा था.

सूत्रों ने कहा कि वर्तमान में उसके ठिकाने के बारे में पता नहीं है. समझा जाता है कि वह यूएई, सउदी अरब, अफ्रीकी और दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के बीच आता-जाता रहता है.

विवादास्पद प्रचारक पर आरोप है कि उसने अपने भड़काऊ भाषणों के जरिए समाज में नफरत फैलाई, टेरर फंडिंग किया और पिछले वर्षों में कई करोड़ रुपए का लेनदेन किया.

भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश में आतंकवादियों ने दावा किया था कि वह जाकिर नाईक के भाषणों से प्रेरित होकर जेहाद कर रहे थे.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi