S M L

कांग्रेस, वाम दल GST पर आधी रात के सत्र का कर सकते हैं विरोध

कांग्रेस, वाम दल और टीएमसी सरकार द्वारा जीएसटी बिल में मौजूद समस्याओं का मुद्दा उठा सकती है

FP Staff | Published On: Jun 28, 2017 01:37 PM IST | Updated On: Jun 28, 2017 01:58 PM IST

0
कांग्रेस, वाम दल GST पर आधी रात के सत्र का कर सकते हैं विरोध

कांग्रेस और वाम दल जीएसटी लागू करने के लिए 30 अप्रैल की आधी रात को आयोजित होने वाले विशेष सत्र का विरोध कर सकते हैं.

न्यूज़ 18 ने सूत्रों के हवाले से अपनी रिपोर्ट में बताया है कि कांग्रेस, टीएमसी और वाम दल के सांसद विशेष सत्र में निमंत्रित किये जाने के तरीके से नाराज हैं. आम तौर पर निमंत्रण पत्र पार्टी नेताओं को संबोधित किया जाता है जबकि संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने सीधे सांसदों को संबोधित किया है.

सीपीआई नेता डी राजा का कहना है कि मध्यरात्रि का सत्र महज ड्रामा है और महज एक इवेंट मैनेजमेंट का मौका होगा.

हालांकि कांग्रेस के लिए ऐसा करना आसान नहीं होगा क्योंकि कांग्रेस इसे अपनी योजना बताती आई है जिसे बीजेपी आगे लेकर बढ़ रही है. ऐसे में सत्र का विरोध करना पार्टी के दावे को कमजोर कर सकता है. साथ ही वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को निजी पत्र लिख कर बुलावा भेजा है.

'नेहरू की नकल करने की कोशिश है आधी रात का सत्र'

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा था कि आधी रात का सत्र बुला कर मोदी सरकार 14 अगस्त की मध्यरात्रि को प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के ऐतिहासिक संबोधन की नकल करना चाहती है.

कांग्रेस के लिए चिंता की एक और बात राष्ट्रपति की मौजूदगी है. सत्र का विरोध राष्ट्रपति के अपमान जैसा प्रतीत हो सकता है. हालांकि टीएमसी के एक नेता के मुताबिक राष्ट्रपति द्वारा आयोजित इफ्तार पार्टी में शरीक ना हो कर दरअसल बीजेपी ने राष्ट्रपति का अपमान किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi