विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

सुप्रीम कोर्ट ने कालिखो पुल सुसाइड केस की जांच का आदेश दिया

कालिखो पुल की पत्नी ने सुसाइड की जांच की मांग की थी

FP Staff Updated On: Feb 22, 2017 11:24 AM IST

0
सुप्रीम कोर्ट ने कालिखो पुल सुसाइड केस की जांच का आदेश दिया

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस जे एस खेहर ने अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कालिखो पुल के सुसाइड मामले में जांच का आदेश दिया है. इंडियन एक्सप्रेस में छपी रिपोर्ट के मुताबिक जस्टिस खेहर का ये आदेश कालिखो पुल की पत्नी के लिखे खत के बाद आया है. खत में कालिखो पुल की पत्नी ने सुसाइड मामले में एफआईआर दर्ज करने और इसकी जांच करवाने की मांग की थी.

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कालिखो पुल ने पिछले साल 9 अगस्त को आत्महत्या कर ली थी. उन्होंने 60 पन्नों का एक सुसाइड लेटर लिखा था  जिसमें कई सीनियर जजों पर गंभीर आरोप लगाए थे. इनमें से दो जज रिटायर हो चुके हैं, जबकि दो अभी सेवा में हैं. इस सुसाइड नोट में पुल ने बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं.

सुसाइड नोट में लिखा गया है कि राज्य में राष्ट्रपति शासन को लेकर कलिखो पुल और उनके सहयोगियों से संपर्क किया गया था, और फैसला पुल के पक्ष में रखने के लिए करोड़ों की घूस मांगी गई थी.

दिवंगत कालिखो पुल की पत्नी दंगविम्साई पुल ने सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस को दो पन्नों का एक पत्र लिखा है, जिसमें मांग की गई है कि आरोपों की जांच सीबीआई से कराई जाए. खत में लिखा है कि पुल के सुसाइड नोट में राज्य की सियासत के अलावा न्यायपालिका में भी भ्रष्टाचार के आरोप लगाये गए हैं.

दंगविम्साई पुल ने कहा है, ‘’आरोपों के घेरे में सर्वोच्च अदालत के दो सीनियर जज भी शामिल हैं, जो अरुणाचल प्रदेश में राष्ट्रपति शासन को खत्म करने के फैसले में शामिल थे. इसलिए यह जरूरी है कि इन दावों के आधार पर मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच सीबीआई को सौंपी जाए.’’

कालिखो पुलकी पहली पत्नी रही दंगविम्साई पुल ने हाल ही में अपना ये खत सार्वजनिक किया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi