S M L

इस चीनी सैनिक को अपने बेटे के लिए चाहिए भारत सरकार की नौकरी

वांग शी नाम का एक युद्धबंदी जेल से छूटने के बाद अपने वतन यानी चीन वापस नहीं गए

FP Staff | Published On: Jul 07, 2017 02:10 PM IST | Updated On: Jul 07, 2017 02:10 PM IST

0
इस चीनी सैनिक को अपने बेटे के लिए चाहिए भारत सरकार की नौकरी

भारत और चीन भले ही सिक्किम सीमा पर तनाव में उलझे हों लेकिन इस बीच चीन का एक सैनिक है जो मध्य प्रदेश में एक घर को लेकर चिंतित है और वह अपने बेटे के लिए एक सरकारी नौकरी चाहता है.

जनवरी 1963 में भारत चीन युद्ध के दौरान वांग शी नाम का एक युद्धबंदी पकड़ा गया था. अपने पकड़े जाने के बाद शी ने छह साल तक उत्तर प्रदेश, पंजाब और राजस्थान की जेलों में वक्त बिताया. अंत में 1969 में उसे जेल से रिहा कर दिया गया. जेल से छूटने के बाद शी अपने वतन यानी चीन वापस नहीं गए. वह पूरी तरह मध्य प्रदेश के बालाघाट में ही रहने लगे.

तभी से शी बालाघाट जिले के अंतर्गत तिरोरी गांव में रह रहे हैं. 1975 में शी ने स्थानीय महिला सुनीता से शादी कर ली और उनके दो बेटी और एक बेटा है. अब वह चाहते हैं कि उनके बेटे को एक सरकारी नौकरी मिल जाए.

शी पिछले साल चर्चा में तब आए जब उन्होंने भारतीय नागरिकता हासिल करने के लिए आवेदन किया था. इसी के तहत उन्हें चीन में अपने गांव जाने की भी इजाजत मिली थी और उन्हें मल्टीपल वीजा जारी किया गया था. अब शी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री आवास योजना स्कीम के तहत एक घर चाहते हैं. इसके लिए वह जिले के अधिकारियों से मुलाकात भी कर चुके हैं.

(साभार- न्यूज18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi