S M L

कैलाश मानसरोवर: चीन ने भारतीय यात्रियों को प्रवेश देने से किया इंकार

कैलाश मानसरोवर की यात्रा के लिए 47 तीर्थयात्रियों का पहला जत्था 15 जून को सिक्किम पहुंचा था

Bhasha Updated On: Jun 24, 2017 09:58 PM IST

0
कैलाश मानसरोवर: चीन ने भारतीय यात्रियों को प्रवेश देने से किया इंकार

चीन ने कैलाश मानसरोवर जा रहे 50 भारतीय तीर्थयात्रियों के पहले जत्थे को प्रवेश देने की अनुमति से इनकार कर दिया है. चीन ने इसके पीछे तिब्बत क्षेत्र में बारिश और भूस्खलन की वजह से सड़कों को नुकसान होने का हवाला दिया है. इन यात्रियों को सिक्किम स्थित नाथू ला दे के जरिए कैलाश मानसरोवर के दर्शन करने जाना था.

आधिकारकि सूत्रों ने बताया कि चीनी अधिकारियों द्वारा सीमा पर आगे बढ़ने से रोके गए 47 तीर्थयात्री अब अपने..अपने संबंधित राज्यों को लौट गए हैं.

तीर्थयात्रियों को 19 जून को सीमा पार कर चीन की तरफ जाना था, लेकिन वे खराब मौसम की वजह से ऐसा नहीं कर पाए. उन्होंने आधार शिविर में इंतजार किया और कल फिर सीमा पार करने की कोशिश की, लेकिन चीनी अधिकारियों ने उन्हें अनुमति देने से इनकार कर दिया.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने शुक्रवार को कहा था कि नाथू ला दे के जरिए तीर्थयात्रियों को कुछ कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है और भारत इस मामले को चीन के समक्ष उठा रहा है.

47 तीर्थयात्रियों का पहला जत्था 15 जून को सिक्किम पहुंचा था

इस घटनाक्रम से वार्षिक तीर्थयात्रा को लेकर अनिश्चितता की छाया पैदा हो गई है क्योंकि चीनी अधिकारियों ने कहा कि उन्हें सड़कों की मरम्मत करने में कुछ समय लगेगा और भारतीय तीर्थयात्रा जल्द शुरू नहीं कर पाएंगे.

कैलाश मानसरोवर की यात्रा के लिए 47 तीर्थयात्रियों का पहला जत्था 15 जून को सिक्किम पहुंचा था. सिक्किम पर्यटन विकास निगम नाथू ला दे के जरिए इस यात्रा का नोडल प्राधिकरण है.

बागले ने शनिवार कहा था, ‘हां, कैलाश मानसरोवर तीर्थयात्रियों को नाथू ला के जरिए कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. मामले पर चीनी पक्ष से बात की जा रही है.‘

उन्होंने यह बात तब कही जब उनसे सीपीईसी और एनएसजी में प्रवेश के भारत के प्रयास सहित विभिन्न मुद्दों पर तनाव के बीच इस घटनाक्रम के संबंध में सवाल पूछा गया.

इस साल कुल 350 तीर्थयात्रियों ने नाथू ला मार्ग के जरिए यात्रा के लिए पंजीकरण कराया था और उन्हें सात जत्थों में यात्रा करनी थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi