S M L

नजीब अहमद मामला: फिरौती मांगने वाले पर आरोप पत्र दायर

नजीब अहमद जेएनयू के आवासीय परिसर से अचानक गायब हो गया था

Bhasha | Published On: May 16, 2017 12:12 PM IST | Updated On: May 16, 2017 12:13 PM IST

नजीब अहमद मामला: फिरौती मांगने वाले पर आरोप पत्र दायर

दिल्ली पुलिस ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के लापता छात्र नजीब अहमद की फिरौती मांगने वाले आरोपी के खिलाफ आरोप पत्र दायर कर दिया है.

मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट सुमित दास की अदालत में इस आरोप पत्र को दायर किया गया है. आरोप पत्र में दावा किया गया है कि 20 वर्षीय शमीम ने नजीब की रिहाई के लिए रिश्तेदारों से 20 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी. उसने इसके लिए एक रिश्तेदार को फोन कर पैसों की मांग की थी.

रकम मिलने के बाद उसने नजीब को रिहा करने का आश्वासन भी दिया था. अदालत के सूत्रों के अनुसार आरोपी ने बाकायदा उन्हें फिरौती देने की जगह भी बताई थी.

पुलिस ने इस मामले में इस्तेमाल कुछ मोबाइल फोन और सिम कार्ड बरामद किए जाने का दावा किया है. जिन्हें कथित रूप से शमीम इस्तेमाल कर रहा था.

क्या था मामला

जेएनयू में बायोटेक्नोलॉजी  के फर्स्ट ईयर के मास्टर्स के छात्र नजीब अहमद जेएनयू के आवासीय परिसर से अचानक गायब हो गया था. गायब होने की पिछली रात को कुछ छात्रों के बीच कथित तौर पर एक झड़प हुई थी. इसके बाद नजीब की कुछ छात्रों ने पिटाई कर दी थी. उसके बाद अगली सुबह से वह लापता है.

आईसा-एसएफआई नीत जेएनयूएसयू ने इस मामले में एबीवीपी के लोगों पर उसकी पिटाई करने का आरोप लगाया था. उन्होंने घटना के विवरण में बताया कि एबीवीपी के गुंडों की सांप्रदायिक भीड़ ने मुसलमान होने के कारण नजीब की पिटाई की थी.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi