S M L

आपका पैसा (पार्ट-3): दान से सिर्फ शांति नहीं टैक्स छूट भी मिलती है

सही जगह दान देंगे तो मिल सकता है 100 फीसदी टैक्स छूट

Pratima Sharma Pratima Sharma | Published On: Jul 12, 2017 08:03 AM IST | Updated On: Jul 12, 2017 04:40 PM IST

0
आपका पैसा (पार्ट-3): दान से सिर्फ शांति नहीं टैक्स छूट भी मिलती है

दान पुण्य से आपको मन की शांति मिले या ना मिले लेकिन टैक्स में छूट जरूर मिलेगी. 'आपका पैसा' की तीसरी कड़ी में हम आपको चैरिटी पर मिलने वाले टैक्स छूट के बारे में बताएंगे. अगर आप समाज के हित में चैरिटी करते हैं तो आयकर की धारा 80G के तहत टैक्स क्लेम कर सकते हैं.

यह तो तय है कि 80G के तहत दान की गई रकम पर टैक्स छूट मिलती है. लेकिन पूरी जानकारी नहीं रहने की वजह से कई बार दान देने के बावजूद छूट का फायदा नहीं मिलता है. जैसे मीना साहू को जब 80G में 100 फीसदी कर छूट का पता चला तो उन्होंने भी 1 लाख रुपए दान दिए. लेकिन रिटर्न फाइल करते हुए उन्हें पता चला कि उनकी दान दी गई रकम पर कोई छूट नहीं मिली. ऐसा मीना ही नहीं कई लोगों के साथ होता है. लिहाजा अगर आप कर छूट के लिए दान दे रहे हैं तो कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है.

कहां मिलेगा 100 फीसदी कर छूट?

80G में अलग-अलग डोनेशन के बारे में साफ किया गया है कि किस पर 100 फीसदी कर छूट मिलेगा और किस पर 50 फीसदी. इसके तहत निवेश पर कुछ शर्तें भी होती हैं. अगर आप नकद 10,000 रुपए से ज्यादा दान देते हैं तो 80G का फायदा नहीं मिलेगा.

यह भी पढ़ें: आपका पैसा (पार्ट 1): इतना मुश्किल भी नहीं एचआरए का गणित

फिस्कल ईयर 2017-18 से 80G के नियम बदल गए हैं. अब आपको कैश में 2000 रुपए से ज्यादा रकम की दान पर टैक्स छूट नहीं मिल सकती है. अगर आप 2000 रुपए से ज्यादा रकम दान देकर टैक्स छूट लेना चाहते हैं तो चेक या डिमांड ड्राफ्ट देना होगा.

अगर आप दान की रकम पर बगैर किसी शर्त के 100 फीसदी टैक्स छूट पाना चाहते हैं तो ये विकल्प हैं.

-केंद्र सरकार का नेशनल डिफेंस फंड -प्राइम मिनिस्टर नेशनल रिलीफ फंड -नेशनल फाउंडेशन फॉर कम्युनल हारमॉनी - -राष्ट्रीय मान्यताप्राप्त कॉलेज या संस्थान -जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित जिला साक्षरता समिति -गरीबों के इलाज के लिए राज्य सरकार द्वारा गठित फंड -नेशनल इलनेस असिस्टेंस फंड -नेशनल ब्लड ट्रांसफ्यूजन काउंसिल या सरकारी ब्लड ट्रांसफ्यूजन काउंसिल -ऑटिज्म, सेरेब्राल पाल्सी बीमारी से परेशान लोगों के लिए बने नेशनल ट्रस्ट फॉर वेलफेयर -मेंटल रिटारडेशन और मल्टीपल डिसएबिलिटीज -नेशनल स्पोर्ट्स फंड -नेशनल कल्चरल फंड -फंड फॉर टेक्नोलॉजी डिवेलपमेंट एंड एप्लिकेशन -नेशनल चिल्ड्रेंस फंड -मुख्यमंत्री के रिलीफ फंड या केंद्रशासित राज्यों के लेफ्टिनेंट गवर्नर का रिलीफ फंड -आर्मी सेंट्रल वेलफेयर फंड या भारतीय नौसेन परोपकारी फंड या एयरफोर्स -सेंट्रल वेलफेयर फंड, आंध्र प्रदेश चीफ मिनिस्टर साइक्लोन रिलीफ फंड, 1996 -महाराष्ट्र चीफ मिनिस्टर रिलीफ फंड 1 अक्टूबर 1993 से 6 अक्टूबर 1993 तक -मुख्यमंत्री भूकंप राहत निधि, महाराष्ट्र -गुजरात के भूकंप पीड़ितों के लिए गुजरात सरकार का कोई फंड -धारा 80G(5C) के तहत गुजरात के भूकंप पीड़ितों के लिए बनाए गए किसी ट्रस्ट, संस्थान या फंड (26 जनवरी 2001 से 30 सितंबर 2001 के बीच) या प्रधानमंत्री का अर्मेनिया भूकंप राहत फंड अफ्रीका (सार्वजनिक योगदान-भारत) फंड -स्वच्छ भारत कोष (फिस्कल ईयर 2014-15 से शुरू) -स्वच्छ गंगा फंड (फिस्कल ईयर 2014-15 से शुरू) -ड्रग पीड़ितों के लिए बनाए गए नेशनल फंड (फिस्कल ईयर 2015-16 से शुरू)

नीचे दिए गए विकल्पों को चुनने पर आपको 50 फीसदी कर छूट का फायदा मिलेगा

-जवाहरलाल नेहरू मेमोरियल फंड -प्रधानमंत्री सूखा राहत कोष -इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट -राजीव गांधी फाउंडेशन

इन विकल्पों से भी आपको डोनेशन पर 100 फीसदी टैक्स छूट का फायदा मिलेगा. बस शर्त इतनी है कि इसमें ग्रॉस सैलरी का सिर्फ 10 फीसदी भी चंदे के तौर पर दे सकते हैं.

-परिवार नियोजन के लिए काम करने वाली सरकारी या कोई अधिकारप्राप्त स्थानीय अथॉरिटी या संस्थान

-इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन या किसी दूसरे एसोसिएशन को कंपनी की तरफ से दिए गए चंदे पर भी मिलेगी छूट

इन विकल्पों से भी आपको डोनेशन पर 50 फीसदी टैक्स छूट का फायदा मिलेगा. बस शर्त इतनी है कि इसमें ग्रॉस सैलरी का सिर्फ 10 फीसदी भी चंदे के तौर पर दे सकते हैं.

-80G(5) के तहत किसी भी संस्थान में

-परिवार नियोजन के लिए काम करने वाली सरकारी या कोई अधिकारप्राप्त स्थानीय अथॉरिटी या संस्थान

-शहरों और गांवों की प्लानिंग के बने फंड

-10(26BB) के तहत अल्पसंख्यक समुदाय को दिया जाने वाला फंड

कंपनी के चंदे पर

अगर कोई कंपनी किसी राजनीतिक दलों को चंदा देती है तो आयकर की धारा 80GGB कर छूट मिलता है. इस छूट की शर्त यह है कि डोनेशन कैश नहीं देना है. रिप्रेजेंटेशन ऑफ द पीपल एक्ट 29A के तहत रजिस्टर राजनीतिक पार्टियों को ही चंदा देने पर कर छूट का फायदा मिलेगा. कंपनी एक्ट 1956 के 293A के तहत इस छूट का जिक्र किया गया है.

आम आदमी के चंदे पर

अगर आप व्यक्तिगत तौर पर किसी राजनीतिक पार्टी को चंदा देते हैं तो 80GGC के तहत कर छूट का फायदा मिलेगा. इसमें भी शर्त यही है कि चंदा कैश ना हो. इसमें भी रिप्रेजेंटेशन ऑफ द पीपल एक्ट 29A के तहत रजिस्टर राजनीतिक पार्टियों को ही चंदा देने पर कर छूट का फायदा मिलेगा.

(पर्सनल फाइनेंस से जुड़ी अगर आपकी भी कोई उलझन है तो आप अपने सवाल Pratima.Sharma@nw18.com पर भेज सकते हैं)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi