विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

बीएसएफ टॉपर कश्मीरी युवक को मिल रही है आतंकियों से धमकी

परिवार के सदस्यों को हमेशा आतंकवादियों से धमकी मिलती रहती है

FP Staff Updated On: May 17, 2017 12:21 PM IST

0
बीएसएफ टॉपर कश्मीरी युवक को मिल रही है आतंकियों से धमकी

पिछले साल बीएसएफ की असिस्टेंट कमांडेंट परीक्षा में टॉप करने वाले जम्‍मू के नबील अहमद वानी ने धमकी मिलने की शिकायत की है. इस संबंध में उन्‍होंने सरकार को खत लिखा है.

वानी ने अपने पत्र में लिखा कि उन्‍हें और उनकी बहन को आतंकियों से धमकी मिल रही है. हाल ही में शादी समारोह में शामिल सेना के लेफ्टिनेंट उमर फयाज की अपहरण के बाद हत्‍या कर दी गई थी.

वानी ने 14 मई को महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी को पत्र लिखा था. इस पत्र में वानी ने अपनी बहन निदा रफीक के लिए हॉस्टल की व्यवस्था कराने का आग्रह किया था. उन्‍होंने कहा कि चंडीगढ़ में सिविल इंजीनियरिंग की छात्रा उनकी बहन एक हॉस्टल में रह रही थी. लेकिन कॉलेज प्रशासन अब उसे कहीं और जाने के लिए कह रहा है. उन्‍होंने कहा की वह चिंतित है कि उसे एक कश्मीरी होने के कारण रहने की जगह नहीं मिल रही है.

वानी इस समय ग्वालियर के नजदीक टेकनपुर में बीएसएफ प्रशिक्षण अकादमी में ट्रेनिंग ले रहे हैं.

वानी ने कहा मेरे और मेरे परिवार के सदस्यों को हमेशा आतंकवादियों से धमकी मिलती रहती है. लेफ्टिनेंट उमर फयाज की हत्या के बाद मैं अपने परिवार की सुरक्षा को लेकर काफी चिंतित हूं. मेरी मां जम्मू में अकेली रहती है जबकि मेरी बहन चंडीगढ़ में है. मैं इस बात से चिंतित हूं क्योंकि आतंकवादी हमारे परिवारों को निशाना बना रहे हैं. मैं निजी मामले में बीएसएफ को शामिल नहीं करना चाहता इसलिए मैंने मंत्री को पत्र लिखा.

वानी ने कहा मैं अब उन सभी कश्मीरियों के लिए चिंतित हूं जो सेना या अर्धसैन्य बलों में सेवारत हैं. हम (कश्मीरी) काफी विरोध के बावजूद सेना में शामिल हुए और अब कश्मीरी जवानों को मारने का चलन हमारे लिए काफी चिंताजनक है.

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि वानी के लिखे पत्र का जवाब उन्हें अगले दिन ही दे दिया गया था. उन्होंने कहा कि मंत्री महोदया ने इस मामले में कॉलेज प्रशासन से बात की जिसके बाद नबील की बहन को हॉस्टल में रहने की अनुमति मिल गई है.

वानी ने कहा कि उन्होंने बीएसएफ में अपने वरिष्ठ अधिकारियों से कहा कि जवानों को छुट्टी पर जाने के समय अपने हथियार साथ ले जाने की अनुमति दी जाए. खासतौर पर उन जवानों को जो आतंकवाद प्रभावित इलाकों में रहते हैं. उन्होंने कहा कि वह अगले दो महीने में अपने रिश्तेदार की शादी के लिए घर जाएंगे.

वानी ने अपनी बहन के बारे में कहा वह अब सुरक्षित है. उसके लिए दुआ कीजिए वह भी जम्मू कश्मीर से भारतीय सेना में शामिल होने वाली पहली महिला बनना चाहती है.

(न्यूज 18 के साभार से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi