S M L

बेंगलुरु: कर्मचारियों ने हड़ताल वापस ली, 7 घंटों बाद फिर चली मेट्रो

बेंगलुरु मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BMRCL) स्टाफ ने अपनी हड़ताल वापस ले ली है

FP Staff Updated On: Jul 07, 2017 01:12 PM IST

0
बेंगलुरु: कर्मचारियों ने हड़ताल वापस ली, 7 घंटों बाद फिर चली मेट्रो

बेंगलुरु मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BMRCL) स्टाफ ने अपनी हड़ताल वापस ले ली है और शहर में मेट्रो एक बार फिर से दौड़ने लगी है. इस हड़ताल के कारण शहर में सात घंटों तक मेट्रो सुविधाएं बाधित रहीं. मेट्रो रेल सेवाएं बाधित हो जाने के कारण शहर के लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. हजारों यात्रियों को मेट्रो के दरवाजे बंद मिले. शहर में मेट्रो सुबह करीब पांच बजे से शुरू होती है. लेकिन बीएमआरसीएल के स्टाफ की हड़ताल के चलते सभी सेवाएं ठप रहीं.

Namma मेट्रो नेटवर्क शहर में करीब 42 किलोमीटर के इलाके में फैला है और करीब तीन लाख यात्री इसके ऊपर निर्भर हैं. ऑफिस पहुंचने के लिए लोगों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी. वहीं इस बीच इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस ने प्रदर्शन कर रहे मेट्रो स्टाफ का समर्थन किया है. बीएमआरसीएल के कर्मचारियों और कर्नाटक राज्य औद्योगिक सुरक्षा बल के कर्मियों के बीच गुरूवार को विवाद हो गया था. इस विवाद के बाद मेट्रो के कुछ कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया था.

एनडीटीवी पर छपी खबर के मुताबिक, मेट्रो के अधिकारियों ने गुरुवार की सुबह आरोप लगाया था कि स्टेशन पर मौजूद कर्मचारियों पर सुरक्षा के लिए तैनात कर्नाटक पुलिसकर्मी ने हमला किया था. इसके बाद मेट्रो स्टाफ कर्मियों को पुलिसकर्मियों के बीच जमकर झगड़ा हुआ, जिसमें 6 कर्मचारियों को गिरफ्तार कर लिया गया. गिरफ्तार किए गए छह कर्मचारियों में से चार को छोड़ दिया गया है और मेट्रो स्टाफ बाकी दो कर्मचारियों को भी छोड़े जाने की मांग कर रही है. वहीं मेट्रो कर्मियों की शिकायत पर कर्नाटक स्टेट इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्सेस के दो कॉन्सटेबल्स को भी गिरफ्तार किया गया था.

इससे पहले बेंगलुरु मेट्रो स्टेशनों के साइन-बोर्ड पर हिंदी भाषा के इस्तेमाल को लेकर विवाद शुरू हो गया था. जिसके बाद मंगलवार को कन्नड़ विकास प्राधिकरण ने बंगलुरु मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन को नोटिस जारी किया था. प्राधिकरण ने स्पष्टिकरण मांगा था कि वह किसके कहने पर तीन भाषा की नीति को फॉलो कर रहे हैं. इसे लेकर सोशल मीडिया पर #NammaMetroHindiBeda - Our Metro, We don't want Hindi' अभियान भी शुरू कर दिया गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi