S M L

अब चार बार कैश ट्रांजेक्शन के बाद बैंक काटेंगे पैसे

चार बार से अधिक धन जमा करने या निकासी पर न्यूनतम शुल्क लगेगा.

FP Staff Updated On: Mar 02, 2017 09:06 AM IST

0
अब चार बार कैश ट्रांजेक्शन के बाद बैंक काटेंगे पैसे

अब चार बार से ज्यादा कैश ट्रांजेक्शन पर चार्ज देना होगा.

एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक ने एक महीने में चार बार से अधिक धन जमा करने या निकासी पर न्यूनतम 150 रुपए शुल्क लगाना शुरू किया है. एक्सिस बैंक ने भी इसी तरह का कदम उठाया है. एचडीएफसी बैंक ने एक सर्कुलर में कहा कि यह शुल्क बचत के साथ-साथ सैलरी खातों पर भी लगेगा. यह बुधवार से प्रभाव में आ गया.

खबरों के मुताबिक, एसबीआई भी एक माह में तीन बार से ज्यादा कैश ट्रांजेक्शन पर सर्विस चार्ज वसूलेगी. तीन से ज्यादा हर ट्रांजेक्शन पर 50 रुपए सर्विस चार्ज लगेंगे. हालांकि इसकी अभी पुष्टि नहीं हो पाई है.

सर्कुलर के अनुसार साथ ही एचडीएफसी बैंक ने तीसरे पक्ष के लिए नकद लेनदेन की सीमा 25,000 रुपए प्रतिदिन तय की है. इसके अलावा नकद रखरखाव शुल्क वापस लिया जाएगा.

यह फैसला कैश ट्रांजेक्शन के बदले डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने की कोशिश है. शून्य जमा वाले खातों के लिए अधिकतम चार बार मुफ्त नकद निकासी की सीमा जारी रहेगी और नकद जमा पर कोई शुल्क नहीं लगेगा.

आईसीआईसीआई बैंक के मामले में शुल्क वही रहेंगे जो 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा से पहले थी. कुछ अन्य मामलों में ऐसे शुल्क में वृद्धि की गई है.

अभी यह पता नहीं चला है कि क्या सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने भी इसी प्रकार का कोई कदम उठाया है. इस बारे में संपर्क किए जाने पर एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सरकार की तरफ से इस संदर्भ में बैंकों को कोई निर्देश नहीं मिला है.

केंद्र ने बैंकों से कहा है कि अपने सभी ग्राहकों को 31 मार्च तक मोबाइल बैंकिंग सुविधा उपलब्ध कराएं. सभी खातों के लिए 31 मार्च से इंटरनेट बैंकिंग शुरू कराने की व्यवस्था करें. खातों को आधार कार्ड से लिंक करना पहले ही अनिवार्य कर दिया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi