S M L

एमपी में किसानों की खुदकुशी का सिलसिला जारी, एक सप्ताह में 11 मौतें

रविवार को नीमच में एक बार फिर कर्ज से परेशान एक किसान ने फांसी लगा ली.

FP Staff | Published On: Jun 19, 2017 04:42 PM IST | Updated On: Jun 19, 2017 04:42 PM IST

एमपी में किसानों की खुदकुशी का सिलसिला जारी, एक सप्ताह में 11 मौतें

मध्य प्रदेश में किसानों द्वारा आत्महत्या किये जाने का सिलसिला जारी है. रविवार को राज्य के नीमच में एक 60 वर्षीय किसान ने पेड़ की टहनी से लटक कर अपनी जान दे दी.

इसके साथ ही राज्य में पिछले एक सप्ताह में आत्महत्या करने वाले किसानों की संख्या 11 पहुंच गई है.

नीमच शहर से 15 किलोमीटर दूर पिपिलिया व्यास गांव के रहने वाले प्यारे लाल औध ने 2.5 लाख रुपयों का लोन लिया था जिसे चुका पाने में वह असमर्थ था.

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक गांव के सरपंच किशन लाल पाटीदार ने बताया कि प्यारे लाल लोन के बोझ से उबर नहीं पा रहा था, जिसके चलते वह तनाव में था.

नीमच टाउन थाने के इंस्पेक्टर हितेश पाटिल ने बताया कि मृतक का शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है और आत्महत्या के कारणों का पता लगाया जा रहा है.

धार में किसान ने कीटनाशक खाकर दी जान

इससे पहले शुक्रवार को भी धार जिले में जगदीश मोरी नामक 40 वर्षीया किसान ने कीटनाशक खाकर आत्महत्या कर ली थी. उसकी कहानी भी प्यारे लाल से मिलती जुलती है. उसने साहूकार से लोन लिया था, जिसे वह चुका नहीं पा रहा था.

इसके अलावा भी राज्य के अलग अलग हिस्सों से आत्महत्या अथवा आत्महत्या के प्रयास की खबरें आई हैं. होशंगाबाद में 40 वर्षीय एक किसान ने खुद को आग लगाकर आत्महत्या की कोशिश की.

मध्य प्रदेश के मंदसौर में किसानों पर हुए फायरिंग के बाद से ही राज्य में किसानों की स्थिति चर्चा के केंद्र में रही है. पुलिस द्वारा हुई इस फायरिंग में 5 आंदोलनकारी किसान मारे गए थे.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi