S M L

तीन दिन की रेकी के बाद आतंकियों ने किया अमरनाथ यात्रियों पर हमला

जानकारी के मुताबिक लश्कर के साथ हिजबुल ने मिलकर आतंकी हमला किया था

FP Staff Updated On: Jul 11, 2017 10:42 AM IST

0
तीन दिन की रेकी के बाद आतंकियों ने किया अमरनाथ यात्रियों पर हमला

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में आतंकी हमले में 7 अमरनाथ यात्रियों के मारे जाने और 32 यात्रियों के घायल होने की खबर है. आतंकियों ने अनंतनाग जिले के बंटेगू इलाके में अमरनाथ यात्रियों की बस पर हमला किया. मारे गए सभी तीर्थयात्री गुजरात के वलसाड के थे.

अभी तक मिली जानकारी के अनुसार बालटाल से लौट रही बस पर रात करीब 8:20 बजे यह हमला हुआ. वर्ष 2000 के बाद से यह इस सालाना तीर्थयात्रा पर सबसे घातक हमला है. वर्ष 2000 में अमरनाथ यात्रा को निशाना बनाया गया था. आतंकवादियों ने पहलगाम क्षेत्र में हमला किया था जिसमें पोर्टर सहित 30 लोग मारे गये थे.

इस हमले के विरोध में आज राज्य में बंद का आह्वान किया गया है. नेशनल कांफ्रेंस, कांग्रेस, विहिप और जेकेएनपीपी सहित कई राजनीतिक दलों ने कश्मीर के अनंतनाग जिले में अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले के चलते मंगलवार को शहर में बंद का आहवान किया है. जानकारी के मुताबिक लश्कर के साथ हिजबुल ने मिलकर आतंकी हमला किया था.

न्यूज 18 सूत्रों के मुताबिक हमला करने वाले सभी आतंकी लश्कर के थे, लेकिन उन्हें स्थानीय सपोर्ट हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों ने दिया. आतंकी बस के भीतर घुसना चाहते थे ताकि ज्यादा से ज्यादा यात्रियों को नुकसान पहुंचा सकें.

सूत्रों ने ये भी बताया कि आतंकियों ने दो से तीन दिन इस पूरे इलाके की रेकी की थी, आतंकी ये जानना चाहते थे कि आखिर कौन सा वाहन बिना सुरक्षा घेरे के निकलता है. बताया गया है कि श्रद्धालुओं को लेकर कुछ बसें बिना सुरक्षा घेरे के निकल रही थीं. आतंकियों ने इस बात का फायदा उठाया.

हमले की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी सहित सभी नेताओं ने निंदा की है. पीएम ने कहा कि इस तरह के कायराना हमलों के सामने देश झुकेगा नहीं. वहीं सोनिया ने कहा कि शिवभक्‍तों पर हमला मानवता के खिलाफ है.

Anantnag: Security person stand guard after militants opened fire on the Amarnath Yatra in which some pilgrims were killed in Anantnag in Jammu and Kashmir on Monday. PTI Photo (PTI7_10_2017_000220B)

लश्कर-ए-तैयबा जिम्मेदार

वहीं, हमले के बाद भी अमरनाथ यात्रा जारी रहेगी. हमले के बाद गृह मंत्रालय ने बैठक की और सुरक्षा व्‍यवस्‍था की समीक्षा की गई. लश्‍कर-ए-तैयबा को हमले के लिए जम्‍मेदार माना जा रहा है.

पुलिस का ये भी कहना है कि अमरनाथ यात्रा निशाने पर नहीं थी. हमला सुरक्षाबलों के काफिले को निशाना बनाकर किया गया था. आतंकी हमला दो अलग-अलग जगहों पर यात्रा की सुरक्षा में लगे जवानों पर हुआ. बस यात्रियों को मिली सुरक्षा का हिस्‍सा नहीं थी. इसके कारण वह फायरिंग के निशाने पर आ गई.

हालांकि, 15 दिन पहले ही अमरनाथ यात्रा पर हमले का अलर्ट जारी किया गया था. लेकिन, इस हमले के बाद भी श्रद्धालुओं के उत्साह में कमी नहीं है और अमरनाथ यात्रा अब भी जारी रहेगी.

इस हमले के बाद राज्य में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. साथ ही मोबाइल डाटा सेवा भी बाधित कर दी गई है.

पुलिस ने कहा कि रात करीब आठ बजकर 20 मिनट पर GJ 09 Z 9976 पंजीकरण संख्या वाली बस पर खानाबल के पास उस समय हमला हुआ जब वह जम्मू जा रही थी. पुलिस ने कहा कि यह बस उस यात्रा काफिले का हिस्सा नहीं थी जिसे पुख्ता सुरक्षा प्रदान की जा रही है.

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि आतंकवादियों ने पहले बोटेंगू में पुलिस के बुलेटप्रूफ बंकर पर हमला किया जिस पर जवाबी कार्वाई की गई. इस हमले में कोई हताहत नहीं हुआ.

Anantnag: An injured woman being treated in a hospital after militants opened fire on the Amarnath Yatra in which some pilgrims were killed many injured in Anantnag in Jammu and Kashmir on Monday. PTI Photo (PTI7_10_2017_000222B) *** Local Caption ***

नियमों का उल्लंघन हुआ

पुलिस ने कहा कि सात श्रद्धालुओं की मौत हो गई जबकि 32 अन्य घायल हुए. पुलिस और शीर्ष सरकारी सूत्रों ने कहा कि बस चालक ने तीर्थयात्रा के नियमों का उल्लंघन किया क्योंकि रात सात बजे के बाद किसी यात्रा वाहन को राजमार्ग पर चलने की अनुमति नहीं होती है क्योंकि इसके बाद सुरक्षा कवर हटा लिया जाता है.

पीएम ने की कड़ी निंदा

व्यक्तिगत रूप से स्थिति की निगरानी कर रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रद्धालुओं पर आतंकी हमले की कड़ी निंदा की और कहा कि भारत ऐसे कायरतापूर्ण हमलों और घृणा के नापाक मंसूबों के आगे झुकने वाला नहीं है. उन्होंने कहा कि उन्होंने राज्य के राज्यपाल एन एन वोहरा और मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से बात की और हरसंभव मदद का आश्वासन दिया. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी वोहरा और महबूबा से बात करके हमले की जानकारियां मांगी.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi