S M L

'वायब्रेंट गुजरात समिट' के लिए जीका वायरस संक्रमण की खबर को दबाया गया: रिपोर्ट

द हिंदू में छपी एक खबर के मुताबिक 'वायब्रेंट गुजरात समिट' की वजह से जीका वायरस के संक्रमण की खबर को दबाया गया

FP Staff | Published On: May 31, 2017 08:56 PM IST | Updated On: May 31, 2017 09:08 PM IST

0
'वायब्रेंट गुजरात समिट' के लिए जीका वायरस संक्रमण की खबर को दबाया गया: रिपोर्ट

अहमदाबाद नगर निगम के जीका संक्रमण फैलने के बारे में अनजान रहने की खबर आने के बाद अब यह पता चला है कि इसके खतरे को जान बूझकर नजरअंदाज किया गया.

द हिंदू में छपी एक खबर के मुताबिक 'वायब्रेंट गुजरात समिट' की वजह से जीका वायरस के संक्रमण की खबर को दबाया गया.

रिपोर्ट में कहा गया है उस दौरान इसे लेकर अगर ट्रैवल एडवायजरी जारी किया गया जाता तो 'वायब्रेंट गुजरात समिट' पर इसका बुरा असर पड़ता. इसलिए इसे लेकर एडवायजरी जारी नहीं की गई. द हिंदू ने कहा कि उसके दो सूत्रों, जिनमें से एक स्वास्थ्य विभाग में गहरी पैठ रखता है, उसने इस बारे में पुष्टि की है.

Vibrant Gujrat Summit

अहमदाबाद में  10 से 13 जनवरी के बीच आठवां वायब्रेंट गुजरात समिट का आयोजन किया गया था (फोटो: फेसबुक से साभार)

वहीं दूसरी तरफ, गुजरात सरकार ने शुरू में जीका वायरस की खबर को छुपाने के आरोपों से इनकार किया था. राज्य के स्वास्थ्य सचिव जे पी गुप्ता ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा 'वो केवल कुछ मामले थे, जो एक दूसरे से जुड़े हुए नहीं थे. वो कोई महामारी नहीं थी, हमने नगर निगम को जीका वायरस के विशेष सैंपलों के टेस्ट पॉजीटिव होने की जानकारी यह सोचकर नहीं दी कि इससे अफरा-तफरी फैल जाएगी.

अहमदाबाद के औद्योगिक उप-नगरीय इलाके बापूनगर में एक पुरुष और दो महिलाओं में जीका वायरस का पता चला था. सबसे पहले, फरवरी, 2016 में एक बुजुर्ग में इसके लक्ष्णों का पता चला था. इसके बाद नवंबर में मां बनी एक महिला और सबसे हाल में, इसी साल जनवरी में एक गर्भवती महिला में इसके होने का पता चला था.

लैब जांच रिपोर्ट में तीनों मामलों में जीका वायरस होने की पुष्टि

बीते 26 मई को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) ने एक रिपोर्ट छापी थी जिसमें कहा गया कि '15 मई, 2017 के दिन भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग की लैब जांच रिपोर्ट में तीनों मामलों में जीका वायरस होने की पुष्टि की थी.

जीका संक्रमण फैलने का पता चलने के बाद भी गुजरात सरकार ने अहमदाबाद नगर निगम को अलर्ट जारी नहीं किया.

अहमदाबाद नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग के मेडिकल अफसर, भावीन जोशी ने आईएएनएस को बताया कि 'हमें इसके बारे में न तो स्वास्थ्य विभाग से और न ही राज्य सरकार से किसी तरह की जानकारी मिली. हाल-फिलहाल में जीका वायरस का कोई भी नया मामला सामने नहीं आया है.'

Research scientist Dan Galperin holds vials marked "Zika" during his work on Purified Recombinant Zika Enveloped Protein at the research laboratory where they are working on developing a vaccine for the Zika virus based on production of recombinant variations of the E protein from the Zika virus at the Protein Sciences Inc. headquarters in Meriden, Connecticut, U.S., June 20, 2016. Picture taken June 20, 2016. REUTERS/Mike Segar - RTSQMJG

जीका वायरस के लिए अभी तक कोई टीका नहीं विकसित किया जा सका है

जीका के वायरस एडीज एजिप्टी मच्छर से फैलते हैं, जो डेंगू और चिकुनगुनिया के संक्रमण के लिए भी जिम्मेदार हैं.

जीका से पीड़ित महिला के गर्भ में पल रहे बच्चे के विकृतियों के साथ पैदा होने की आशंका रहती है. बता दें कि अभी तक जीका वायरस का कोई इलाज नहीं खोजा जा सका है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi