विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

कश्मीरी पंडितों के संगठन ने की संविधान के अनुच्छेद 370, 35A को हटाने की मांग

अश्विनी कुमार चुरुंगू ने कहा कि हमारा मानना है कि अब अनुच्छेद 370 और 35ए को हटाए जाने का समय आ गया है. इन प्रावधानों से राज्य में केवल अलगाववाद और आतंकवाद के बढ़ने में मदद मिली है

Bhasha Updated On: Aug 31, 2017 07:39 PM IST

0
कश्मीरी पंडितों के संगठन ने की संविधान के अनुच्छेद 370, 35A को हटाने की मांग

कश्मीर के विस्थापित पंडितों के एक संगठन ने संविधान के अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए को हटाने की मांग की है. उन्होंने दावा किया कि इन प्रावधानों से जम्मू कश्मीर में अलगाववाद और आतंकवाद के फलने फूलने में मदद मिली है.

पनुन कश्मीर के अध्यक्ष अश्विनी कुमार चुरुंगू ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा ‘हमारा मानना है कि अब इन प्रावधानों (अनुच्छेद 370 और 35ए) को हटाए जाने का समय आ गया है और इन प्रावधानों से राज्य में केवल अलगाववाद और आतंकवाद के बढ़ने में मदद मिली है.’

पनुन कश्मीर के सदस्यों की एक टीम ने कश्मीर और कश्मीरी पंड़ितों से संबंधित मुद्दों पर लोगों में जागरुकता पैदा करने के लिए हाल में मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान और दिल्ली का दौरा किया था.

टीम का नेतृत्व करने वाले चुरुंगू ने पत्रकारों से कहा ‘इन राज्यों के लोगों ने संविधान के अनुच्छेदों को हटाये जाने का समर्थन किया था. ये अनुच्छेद अलगाववाद के लिए एक संवैधानिक दायरा बनाने के लिए जिम्मेदार है.’

आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन और उसके नेता सैयद सलाहुद्दीन पर अमेरिकी प्रतिबंध का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा ‘हम इस कदम की सराहना करते है और इसे ‘घाटी में आतंकवाद को समाप्त करने की दिशा में अमेरिका की एक प्रतिबद्धता’ के रूप में देखा जाना चाहिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi