S M L

LIVE आरुषि-हेमराज हत्याकांड: आज नहीं होंगे तलवार दंपत्ति रिहा

इलाहाबाद हाईकोर्ट नोएडा के चर्चित आरुषि-हेमराज हत्याकांड में गुरुवार को फैसला सुना सकता है

FP Staff | October 13, 2017, 06:20 PM IST

0

हाइलाइट

Oct 13, 2017

  • 17:30(IST)

    आज नहीं हो पाएंगे तलवार दंपत्ति रिहा: वकील

  • 17:12(IST)

    आरुषि-हेमराज हत्याकांड मामले में तलवार दंपत्ति के वकील को फैसले की कॉपी मिल गई है. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने गुरुवार को उन्हें बरी किया था. अभी वो डासना जेल में बंद है.

  • 16:00(IST)

    डासना जेल सुपरिंटेंडेंट ने कहा है कि अगर आज जेल बंद होने से पहले तलवार दंपत्ति की रिहाई का आदेश आ जाता है तो वे आज ही रिहा हो जाएंगे. लेकिन इसकी उम्मीद कम लग रही है.

  • 15:40(IST)

    मिली जानकारी के अनुसार तलवार दंपत्ति की रिहाई आज टल सकती है. बताया जा रहा है कि रिहाई की कॉपी अब तक नहीं मिली है. आपको बता दें कि अगर आज रिहाई टलती है तो फिर सोमवार को ही रिहाई मुमकिन हो पाएगी.

  • 14:09(IST)

    खबर आ रही है कि तलवार दंपत्ति कि रिहाई आज रुक सकती है क्योंकि फैसले की कॉपी अब तक नहीं मिली है.

  • 10:10(IST)

    वहीं तलवार दंपत्ति के वकील ए मीर ने कहा है कि मझे लगता है तलवार दंपत्ति को शाम चार बजे तक रिहाई मिल जाएगी.
     

  • 10:09(IST)

    तलवार दंपत्ति की रिहाई को लेकर डासना जेल के जेलर डी मौर्य ने कहा, जब तक ऑर्डर नहीं आएगा तब तक जेल से कोई कार्यवाही नहीं हो सकती.

  • 15:35(IST)
  • 15:13(IST)
  • 15:12(IST)

    हाई कोर्ट ने कहा, सीबीआई हत्या के आरोप को साबित नहीं कर पाई, जिसका फायदा तलवार दंपत्ति को मिला  

  • 15:11(IST)

    सीबीआई में निराशा: सुप्रीम कोर्ट तक जाएंगे. अभी हार नहीं मानेंगे. लीगल लड़ाई जारी रहेगी. 

  • 15:03(IST)

    मई 2008 में हुई थी अारुषि की हत्या 

  • 15:02(IST)
  • 15:00(IST)

    तलवार दंपत्ति को संदेह का फायदा मिले: हाई कोर्ट  

  • 14:59(IST)

    हाई कोर्ट का फैसला माता पिता के पक्ष में: राजेश और नूपुर तलवार को बरी किया गया. 

  • 14:57(IST)

    इलाहाबाद हाई कोर्ट ने तलवार दंपत्ति को बरी कर दिया गया है.  

  • 14:55(IST)

  • 14:54(IST)
  • 14:54(IST)

    आरुषि के रूम का दरवाजा बाहर से बंद था और चाबियां सिर्फ पेरेंट्स के पास था 

    हाई कोर्ट में बचाव: आरुषि के रूम में बाथरूम से भी जाना का एक रास्ता है. लेकिन इस पर कोई विचार नहीं किया गया

  • 14:53(IST)

    तलवार दंपत्ति के पक्ष-विपक्ष में क्या?

    जबरदस्ती नहीं हुआ दाखिल: घर में सिर्फ 4 लोग थे, अगर उनमें से दो लोगों की हत्या हुई है तो किसने की?

    हाई कोर्ट में बचाव: पारिवारिक दोस्त के तौर पर कोई घर में दाखिल हुआ. हेमराज ने अपने दोस्तों कृष्णा, राजकुमार और विजय मंडल को घर में बुलाया. ये सब आरुषि के कमरे में चले गए.

  • 14:32(IST)

    तलवार दंपत्ति ने उम्र कैद के खिलाफ यह याचिका दायर की है, आज फैसले से इनकी किस्मत तय होगी  

  • 14:29(IST)

  • 14:28(IST)

    आरुषि तलवार मर्डर केस का फैसला आज 2.45 तक आने वाला है. इस बीच इलाहाबाद हाई कोर्ट के आस पास सुरक्षा बढ़ाई गई. मई 2008 में 14 साल की अारुषि अपने घर में मृत पाई गई. सबसे पहले शक 45 साल के नौकर हेमराज पर गया.लेकिन वो लापता था. हालांकि बाद में उसकी बॉडी दो दिन बाद घर की छत पर ही मिली. 

  • 14:23(IST)

  • 14:13(IST)

    सीबीआई के एक अफसर धनकर ने 2008 में लैब को टेस्ट भी लिखा था.

  • 14:13(IST)

    तलवार दंपति को अदालत के फैसले की जानकारी डासना जेल में लगे टीवी से मिलेगी. जेल सूत्रों के अनुसार, फैसले के दिन पति-पत्‍नी बेचैन दिख रहे हैं.

  • 14:11(IST)

    9 फरवरी को सीबीआई ने तलवार दंपति के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया. सीबीआई की जांच के आधार पर गाजियाबाद सीबीआई कोर्ट ने 26 नवंबर 2013 को हत्या और सबूत मिटाने का दोषी मानते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी. तब से तलवार दंपति जेल में बंद हैं.

  • 14:11(IST)

    हत्याकांड में नोएडा पुलिस ने 23 मई को डॉ. राजेश तलवार को बेटी आरुषि और नौकर हेमराज की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया था. 1 जून को इस केस की जांच सीबीआई को स्थानांतरित हो गई. 

  • 14:10(IST)

    कब-कब क्या हुआ?

    आरुषि व हेमराज की हत्या 15 मई 2008 की रात नोएडा के सेक्टर-25 जलवायु विहार स्थित घर में हुई थी. 16 मई की सुबह आरुषि का खून से लथपथ शव उसके कमरे में बिस्तर पर पड़ा मिला था. तलवार दंपति ने इस हत्या का आरोप अपने नौकर हेमराज पर लगाया था. केस में 17 मई की सुबह तब नया मोड़ आ गया, जब हेमराज का भी खून से लथपथ शव तलवार दंपति के फ्लैट की छत से बरामद हुआ.

  • 14:10(IST)

    आरुषि हत्याकांड में गुरुवार को 2.30 बजे इलाहाबाद हाईकोर्ट फैसला सुना सकता है. राजेश और नुपुर तलवार अभी डासना जेल में बंद हैं. नवंबर 2013 में तलवार दंपत्ति को उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी. आइए जानते हैं अब तक शक के घेरे के में खड़ी आरुषि मर्डर मिस्ट्री कैसे पहुंची इलाहाबाद हाईकोर्ट तक.

LIVE आरुषि-हेमराज हत्याकांड: आज नहीं होंगे तलवार दंपत्ति रिहा

इलाहाबाद हाईकोर्ट नोएडा के चर्चित आरुषि-हेमराज हत्याकांड में गुरुवार को फैसला सुना सकता है. कोर्ट के फैसले से इस हत्याकांड में उम्र कैद की सजा काट कर रहे आरुषि के पिता राजेश तलवार और मां डॉ. नुपुर तलवार की किस्मत का फैसला भी हो जाएगा.  तलवार दंपत्ति की तरफ से दाखिल याचिका पर हाईकोर्ट ने 7 अक्टूबर को सुनवाई पूरी करते हुए फैसला सुरक्षित रख लिया था. गाजियाबाद सीबीआई कोर्ट ने तलवार दंपत्ति को दोषी मानते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी. जिसके बाद इस फैसले को तलवार दंपत्ति ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में चुनौती दी थी.

कब-कब क्या हुआ?

आरुषि व हेमराज की हत्या 15 मई 2008 की रात नोएडा के सेक्टर-25 जलवायु विहार स्थित घर में हुई थी. 16 मई की सुबह आरुषि का खून से लथपथ शव उसके कमरे में बिस्तर पर पड़ा मिला था. तलवार दंपति ने इस हत्या का आरोप अपने नौकर हेमराज पर लगाया था. केस में 17 मई की सुबह तब नया मोड़ आ गया, जब हेमराज का भी खून से लथपथ शव तलवार दंपति के फ्लैट की छत से बरामद हुआ.

हत्याकांड में नोएडा पुलिस ने 23 मई को डॉ. राजेश तलवार को बेटी आरुषि और नौकर हेमराज की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया था. 1 जून को इस केस की जांच सीबीआई को स्थानांतरित हो गई. 9 फरवरी को सीबीआई ने तलवार दंपति के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया. सीबीआई की जांच के आधार पर गाजियाबाद सीबीआई कोर्ट ने 26 नवंबर 2013 को हत्या और सबूत मिटाने का दोषी मानते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी. तब से तलवार दंपति जेल में बंद हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi