S M L

भारत का 68वां गणतंत्र दिवस, देशभर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

भारत के इस गणतंत्र दिवस समारोह में अबु धाबी के शहजादे मोहम्मद बिन ज़ायद अल नाहयान मुख्य अतिथि है.

FP Staff Updated On: Jan 26, 2017 09:14 AM IST

0
भारत का 68वां गणतंत्र दिवस, देशभर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

देश आज अपना 68वां गणतंत्र दिवस मना रहा है. राजधानी दिल्ली के राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड में भारतीय सेना अपनी ताकत का मुजाहिरा करेगी. इसके अलावा देश के हर राज्य से उसकी उपलब्धियां और विविधता से भरी संस्कृति दिखाती झांकियां प्रदर्शित की जाएंगी. भारत के इस गणतंत्र दिवस समारोह में अबु धाबी के शहजादे मोहम्मद बिन ज़ायद अल नाहयान मुख्य अतिथि है.

विंग कमांडर रमेश कुमार दूबे परेड की अगुवाई करेंगे. इसके बाद परेड कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल मनोज नरवाने और उनके नायब मेजर जनरल राजेश सहाय सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर भारत के राष्ट्रपति के प्रति सम्मान प्रकट करेंगे. परमवीर चक्र और अशोक चक्र से सम्मानित सैनिक भी परेड कमांडर का अनुसरण करेंगे.चार एमआई-17 हेलिकॉप्टर आकाश से पुष्प वर्षा करेंगे.

यूएई के सैनिकों की एक टुकड़ी के साथ उसका संगीत बैंड परेड की अगुवाई करेगा. परेड का सबसे बड़ा आकषर्ण भारत के एकमात्र कैवेलरी का अपने प्रतापी घोड़ों के साथ मार्च होगा. परेड में रक्षाकर्मियों का दुस्साहसी मोटरबाइक स्टंट भी होगा.

यह भी पढ़ें: कैशलेस होने से इकॉनोमी में पारदर्शिता बढ़ेगी: राष्ट्रपति

New Delhi: UAE contingent's march during a rehearsal for the Republic Day Parade at Rajpath in New Delhi on Friday.This is the first time Arab soldiers will join the military parade on Indian Republic Day. PTI Photo (PTI1_20_2017_000112B)

संयुक्त अरब अमीरात सेना का जवान. भारत के 68वें गणतंत्र दिवस परेड के अभ्यास के दौरान. फोटो: पीटीआई

परेड के बड़े आकर्षण में से एक एमआई-35 हेलिकॉप्टरों, स्वदेशी हल्के लड़ाकू विमान तेजस, जगुआर और सुखोई का सलामी उड़ान होगा. हालांकि, ये दोनों कार्यक्रम परेड के आखिरी चरण में होंगे.

सैन्य ताकत का प्रदर्शन

सेना अपने टैंक टी-90 और इन्फैन्ट्री कॉम्बैट व्हीकल और ब्रह्मोस मिसाइल, हथियार का स्थान बताने वाले रडार स्वाति, ढुलाई करने लायक उपग्रह टर्मिनल और आकाश हथियार प्रणाली को भी दर्शाएगी. एक और आकर्षण धनुष तोप प्रणाली होगा.

इसके बाद एडवांस्ड लाइट हेलिकॉप्टर रूद्र सलामी उड़ान भरेगा. गणतंत्र दिवस परेड में मेकैनाइज्ड इन्फैन्ट्री रेजीमेंट, बिहार रेजीमेंट, गोरखा ट्रेनिंग सेंटर और पंजाब रेजीमेंटल सेंटर, सिख रेजीमेंटल सेंटर, मद्रास इंजीनियरिंग ग्रुप, इन्फैन्ट्री, बटालियन ‘क्षेत्रीय सेना’ सिख लाइट इन्फैन्ट्री का संयुक्त बैंड भी दिखेगा.

Chennai: Students take part in an event to mark Republic Day celebrations in Chennai on Wednesday. PTI Photo (PTI1_25_2017_000172B)

परेड में पूर्व सैन्यकर्मियों की झांकी भी दिखेगी. इसके बाद नौसेना की मार्चिंग टुकड़ी और नौसेना की भी एक झांकी दिखेगी. वायु सेना के मार्चिंग टुकड़ी के बाद वायु सेना की भी एक झांकी दिखाई जाएगी जिसमें भारतीय वायु सेना के सैन्य कौशल को प्रदर्शित किया जाएगा. रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) अपना एडवांस्ड टॉड आर्टिफिसियल गन सिस्टम (एटीएजीएस) और मध्यम क्षमता वाले रडार अरूद्र को प्रदर्शित करेगा.

अर्धसैनिक बल की टुकड़ी का नेतृत्व बीएसएफ का उंट बैंड करेगा. इसके बाद भारतीय तटरक्षक बल, सीआईएसएफ, दिल्ली पुलिस, एनएसजी और एनसीसी की टुकड़ियां मार्च करेगी.

ओड़िशा, अरूणाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, गुजरात, लक्षद्वीप, कर्नाटक, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, पंजाब, तमिलनाडु, त्रिपुरा, जम्मू कश्मीर, असम समेत अन्य राज्य अपनी-अपनी झांकियों के माध्यम से अपनी परंपरा और संस्कृति की झलक पेश करेंगे.

यह भी पढ़ें: गणतंत्र दिवस परेड की ऐसी तस्वीरें जो आपके होश उड़ा देंगी

 

New Delhi: Territorial Army soldiers march on Rajpath Rajpath during a rehearsal for the Republic Day parade in New Delhi on Friday. PTI Photo by Kamal Singh(PTI1_20_2017_000053B)

टेरिटोरियन सेना के जवान गणतंत्र दिवस परेड अभ्यास के दौरान मार्चपास्ट करते हुए. फोटो: पीटीआई

वित्त मंत्रालय के तहत केंद्रीय उत्पाद शुल्क एवं सीमा शुल्क बोर्ड विभाग के साथ कौशल विकास मंत्रालय की भी झांकी गणतंत्र दिवस परेड में देखने को मिलेगी.

दिल्ली सहित पूरे देश में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत देशभर में गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गये हैं और संवेदनशील क्षेत्रों सहित चप्पे चप्पे पर सुरक्षा बल तैनात हैं. वहीं जानवरों के आवागमन पर भी नजर रहेगी क्योंकि ऐसी गुप्तचर जानकारी है कि आतंकवादी समूह उनका इस्तेमाल आत्मघाती हमलावर के तौर पर कर सकते हैं.

साथ ही जगह जगह बैरिकेट लगाकर आने जाने वाले वाहनों की जांच की जा रही है. दिल्ली पुलिस को आज एक विशेष परामर्श भेजकर सूचना दी गई कि आतंकवादी समूह रेलवे स्टेशन जैसे महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने के लिए जानवरों का इस्तेमाल कर सकते हैं ताकि अफरा तफरी मचायी जा सके.

Jammu: Security personnel keeping vigil outside Maulana Azad Stadium ahead of Republic Day in Jammu on Wednesday. PTI Photo (PTI1_25_2017_000133B)

दिल्ली पुलिस को यह सूचना भेजी गई है. जिसमें कहा गया है कि आतंकवादी नयी तकनीकों का इस्तेमाल कर सकते हैं. आज उसे एक विशेष परामर्श मिला जिसमें इस तरह के हमले की चेतावनी दी गई.

परामर्श दिल्ली पुलिस की विशेष इकाई द्वारा जारी किया गया जिसमें कर्मियों से चुराये गए पालतू जानवरों को ध्यान में रखने के लिए कहा गया क्योंकि हो सकता है कि आतंकवादी समूहों ने उन्हें आतंकवादी हमले करने के लिए चुरा लिया हो.

दिल्ली में पुलिस और अर्धसैनिक बल के करीब 60 हजार जवान कड़ी चौकसी रखेंगे. इस दौरान गुप्तचर जानकारी के मद्देनजर विशेष जोर हवाई खतरों को निष्क्रिय करने पर रहेगा. राजपथ पर विशेष इंतजाम किये गए हैं.

हाल में आयी इस गुप्त सूचना के मद्देनजर कि हो सकता है कि लश्करे तैयबा जैसे आतंकवादी समूह हेलीकाप्टर चार्टर सेवाएं और चार्टर उड़ानों का इस्तेमाल करते हुए हवा के जरिये हमले की योजना बना रहें हो. दिल्ली पुलिस अन्य सुरक्षा एजेंसियों के साथ मिलकर कड़ी सतर्कता रख रही है.

New Delhi: A sweeper cleans a street in front of Army tanks taking part in a rehearsal for the Republic Day Parade at Rajpath in New Delhi on Friday. PIT Photo by Kamal Singh(PTI1_20_2017_000059B)

गणतंत्र दिवस परेड से पहले राजपथ की सफाई करते कर्मचारी. फोटो: पीटीआई

सीसीटीवी कैमरे लगाये गए हैं और नियंत्रण कक्ष स्थापित किये गए हैं ताकि कैमरों से मिलने वाली फीड की निगरानी की जा सके.

खुफिया विभाग की एडवाइजरी में कहा गया है कि आतंकवादी फिदायीन हमला करने के लिए सुरक्षा बलों की वर्दी का इस्तेमाल कर सकते हैं.  इसलिए गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान तैनात होने वाले सुरक्षा कर्मियों की पहचान और जांच की पर्याप्त व्यवस्था की जाए.

यह भी पढ़ें: 68वें गणतंत्र दिवस पर भारतीय तिरंगे में रंगा गूगल डूडल

सुरक्षा बलों को चेतावनी दी गई है कि कुछ मुस्लिम चरमपंथी संगठन हवाईजहाजों का इस्तेमाल करके 9/11 हमला जैसे हमले की योजना बना रहे हैं. 26 जनवरी को सुबह 10 बजकर 35 मिनट से सवा बारह बजे के बीच इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से किसी भी वाणिज्यिक उड़ान को उड़ान भरने या उतरने की अनुमति नहीं दी जायेगी.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi