S M L

1993 मुंबई ब्लास्ट: अबु सलेम और करीमुल्लाह को उम्रकैद, ताहिर-फिरोज को फांसी

टाडा कोर्ट मुंबई ब्लास्ट मामले में पहले ही 100 लोगों को दोषी करार दे चुका है. इनमें बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त भी शामिल हैं

FP Staff Updated On: Sep 07, 2017 02:49 PM IST

0
1993 मुंबई ब्लास्ट: अबु सलेम और करीमुल्लाह को उम्रकैद, ताहिर-फिरोज को फांसी

1993 मुंबई बम धमाकों में दोषी अबु सलेम पर टाडा कोर्ट ने फैसला सुना दिया है. अबु सलेम को मुंबई की विशेष टाडा अदालत ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. सलेम को 2 अलग-अलग मामलों में सजा मिली है लेकिन दोनों सजाएं साथ-साथ चलेंगी. अबु सलेम को लोगों की हत्या और हथियारों की सप्लाई करने का दोषी माना गया था.

विशेष सरकारी वकील एवं वरिष्ठ अधिवक्ता उज्जवल निकम ने कहा कि अबु सलेम को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है. वो 12 साल जेल में गुजार चुका है. ऐसे में भारत और पुर्तगाल मिलकर तय करेंगे कि सलेम को जेल में कितने दिन रहना होगा. कहा जा रहा है कि पुर्तगाल के कानून के मुताबिक, उम्रकैद का मतलब 25 साल होता है. ऐसे में सलेम को जेल में और 13 साल गुजारने होंगे. आपको बता दें कि सलेम 2005 से जेल में बंद है.

वहीं करीमुल्लाह को उम्रकैद की सजा सुनाई है. साथ ही अबु सलेम और करीमुल्लाह पर जुर्माना भी लगाया है. टाडा कोर्ट ने ताहिर मर्चेंट और फिरोज खान को फांसी की सजा सुनाई गई है. रियाज सिद्दीकी को 10 साल की सजा सुनाई गई है. करीमुल्लाह पर हथियार सप्लाई करना का दोषी पाया गया है. सलेम सहित पांच लोगों को सजा सुनाई गई है.

12 मार्च साल 1993 के मुंबई धमाकों के मामले में अबु सलेम और मुस्तफा डोसा मुख्य आरोपी हैं. मुस्तफा की 28 जून को हार्टअटैक से मौत हो गई थी. मुंबई में हुए इन 13 बम धमाकों में 257 लोग मारे गए थे.

इससे पहले 16 जून को कोर्ट ने अबु सलेम, मुस्तफा दौसा, उसके भाई मोहम्मद दोसा, फिरोज अब्दुल राशिद खान, मर्चेंट ताहिर और करीमुल्लाह शेख को दोषी करार दिया था.

इस सलेम 1995 के बिल्डर प्रदीप जैन हत्या मामले में उम्रकैद की सजा काट रहा है.

टाडा कोर्ट मुंबई ब्लास्ट मामले में पहले ही 100 लोगों को दोषी करार दे चुका है. इनमें बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त भी शामिल हैं. उन्हें आर्म्स एक्ट के तहत सजा सुनाई गई थी. उनकी सजा पूरी हो चुकी है.

कब हुआ था ब्लास्ट

12 मार्च, 1993 में हुए मुंबई बम धमाकों में 257 लोग मारे गए थे और 713 घायल हुए थे. ये धमाके बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज, एयर इंडिया बिल्डिंग और 'सी रॉक' जैसे होटल सहित शहर की 12 जगहों पर हुए थे.

सलेम के अलावा साल 2005 में पुर्तगाल से दोसा, करिमुल्लाह खान, फिरोज अब्दुल राशिद खान, रियाज़ सिद्दीकी, ताहिर मर्चेंट और अब्दुल कय्यूम को भी प्रत्यर्पित किया गया था.

(साभार: न्यूज़18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi