S M L

Hot Topic : ट्रिपल तलाक पर टीवी स्टार्स ने दिए मिक्स्ड रिएक्शंस, ज्यादातर स्टार्स फैसले के हक में

ट्रिपल तलाक को लेकर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले पर टीवी एक्टर्स ने दिया ये रिएक्शन

Rajni Ashish Updated On: Aug 23, 2017 01:04 PM IST

0
Hot Topic : ट्रिपल तलाक पर टीवी स्टार्स ने दिए मिक्स्ड रिएक्शंस, ज्यादातर स्टार्स फैसले के हक में

देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को असंवैधानिक करार दे दिया है. कोर्ट ने मंगलवार को इसपर अपना फैसला सुनाते हुए मुस्लिम महिलाओं को राहत देते हुए तीन तलाक पर रोक लगा दिया है.

मुस्लिम महिलाओं के पक्ष में आए सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का देश के हर खास-ओ-आम ने स्वागत किया है. कई टीवी स्टार्स ने मंगलवार को तीन तलाक पर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को ऐतिहासिक बताते हुए, इसका स्वागत किया है. साथ ही कहा है कि ये फैसला महिला सशक्तिकरण की दिशा में भी महत्वपूर्ण कदम है. वहीं कुछ इस फैसले से पूरी तरह से संतुष्ट नहीं दिखाई दिए.

अनस राशिद

A post shared by anas Rashid (@anasrashid2013) on

मैं सर्वोच्च न्यायालय के फैसले से पूरी तरह से सहमत हूं. मैं कहूंगा कि ये अंतिम निर्णय है और हम सभी को इसका पालन करना चाहिए.

शमा सिकंदर

A post shared by Shama Sikander (@shamasikander) on

मुझे लगता है कि ट्रिपल तलाक वास्तव में एक समस्या नहीं थी. ये लोगों की मानसिकता की परेशानी है. लोग सतही चीजों को सुलझाने की कोशिश करते हैं लेकिन समस्या की जड़ में गहराई से नहीं जाना चाहते हैं. लोगों की मानसिकता है कि, कोई भी शख्स तीन बार तलाक बोल कर तलाक ले सकता / दे सकता है. अब ऐसा भी हो सकता है कि इस फैसले के आने के बाद लोग एक बार तलाक कहकर तलाक देने लगें. क्या इससे तलाक में कमी आएगी? अगर ऐसा होता है, तो मैं इस फैसले से खुश हूं. यह ऐसा है जैसे आपको दस्त है और आप बुखार की दवा ले रहे हैं. यह कैसे काम करेगा?

सना अमीन शेख

सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं के लिए एक बहुत ही सकारात्मक निर्णय लिया है. ट्रिपल तलाक का इस्तेमाल गलत तरीके से किया गया था. लोगों को इस्लाम के अनुसार ट्रिपल तलाक का वास्तव में असली अर्थ नहीं पता था. जो लोग अशिक्षित हैं या इस्लाम को अच्छी तरह से जानते नहीं हैं, सिर्फ समाज में प्रचलित हैं और सदियों से पारंपरिक रूप से लागू मानदंडों का पालन कर रहे थे. समाज में हमेशा एक मानसिकता थी कि एक महिला जो तलाकशुदा है, उसका कोई भविष्य नहीं है, जबकि तलाकशुदा या विधवा पुनर्विवाह का हमेशा से इस्लाम में उल्लेख रहा है. लोगों ने ट्रिपल तलाक का बहुत दुरुपयोग किया है और मैं बहुत खुश हूं कि अब अदालतों और कानूनी अधिकारियों के माध्यम से चीजों को पारस्परिक रूप से किया जाएगा. मैं निर्णय से बहुत खुश हूं. कम से कम अब इसका दुरुपयोग नहीं किया जाएगा.

इकबाल खान

सर्वोच्च न्यायालय ने तत्काल ट्रिपल तलाक पर प्रतिबंध लगा दिया है, जो इस्लाम में कभी भी अस्तित्व में था ही नहीं. ट्रिपल तलाक एक लंबी प्रक्रिया है और तीन चरणों से गुजरना होता है. उदाहरण के लिए, अगर मेरी पत्नी मेरे साथ धोखा करती है तो मैं उसे पहला तलाक दूंगा जो एक चेतावनी की तरह है, यानी मैं उसे दूसरा मौका दे रहा हूं. अगर वो दूसरी बार भी गलती को दोहराती है, तो मैं उसे दूसरा तलाक दूंगा और इसका मतलब होगा कि हमारे बेड को अलग करना होगा और अगर वह तीसरी बार उसे दोहराती है, तो मैं उसे अंतिम तलाक दे दूंगा और हम अलग हो जाएंगे. लोग वास्तविक बात नहीं जानते क्योंकि वो कुरान नहीं पढ़ते हैं और सिर्फ ट्रिपल तलाक के बारे में सुनी सुनाई बातें करते हैं.

हिबा नवाब

A post shared by Heeba Nawab (@heebanawab) on

यह एक अच्छी बात है कि सुप्रीम कोर्ट ने ट्रिपल तलाक पर रोक लगा दी है. मैं फैसले का समर्थन करती हूं क्योंकि एक महिला को तलाक की लम्बी प्रक्रिया के दर्द से गुजरना पड़ता है.

मोहम्मद नाजीम

मेरा मेरे धर्म में सर्वोच्च न्यायालय की तुलना में अधिक विश्वास है. मुझे इस खबर के बारे में कोई जानकारी नहीं है. हालांकि, मैं कह सकता हूं कि हर धर्म का अपना रिवाज और विश्वास होता है. यह विचार है कि आप किसी को केवल तीन बार 'तलाक' शब्द का उच्चारण करके तलाक दे सकते हैं ये पूरी तरह से निराधार है. सुप्रीम कोर्ट एक धर्म में हस्तक्षेप कैसे कर सकता है? यह सब राजनीति है तलाक केवल तभी होगा अगर आप किसी को शादी करने के लिए मजबूर करते हैं. आसिया काजी: मैं वास्तव में इसके बारे में टिप्पणी करने के लिए सही व्यक्ति नहीं हूं. मुझे इस घटना के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है लेकिन मैं जो कुछ कहना चाहती हूं वो ये है कि ये सभी किसी के सिस्टम पर विश्वास पर निर्भर करता है. ये ऐसा ही है जैसे कुछ लोग ईश्वर पर विश्वास करते हैं और कुछ नहीं करते हैं. लोग उसका अनुसरण करेंगे, जो वो चाहते हैं. ये निर्णय कानूनी तौर पर महिलाओं की मदद करेगा. मुझे आशा है कि ये एक सकारात्मक फैसला साबित हो.

फलक नाज

A post shared by Falaq (@falaqnaazz) on

ये फैसला महिलाओं की मदद करेगा. ईमानदारी से, ट्रिपल तलाक के नाम पर, आप वास्तव में अपने साथी को तलाक नहीं दे सकते. लोगों को इसके के लिए शिक्षित नहीं किया जाता है कि तलाक समय के साथ होने वाली प्रक्रिया है. हां तत्काल ट्रिपल तलाक भी होता है, इसलिए यह न्यायालय द्वारा एक अच्छा कदम है. यहां तक कि इस्लाम में भी प्रक्रिया का उल्लेख है.

कविता कौशिक

हिट टीवी शो एफआईआर में चंद्रमुखी चौटाला की भूमिका निभाने वाली कविता कौशिक ने ट्रिपल तलाक के सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा, "मैं निर्णय से बहुत खुश हूं और मुझे लगता है कि यह सही निर्णय है. मेरे ऐसे सभी मुस्लिम दोस्त ऐसे हैं जिनके पास ना चार पत्नियां हैं और ना ही उन्होंने किसी को भी तलाक दिया है. मुझे लगता है कि निर्णय बहुत जरूरी है. "

पायल रोहतगी

पायल रोहतगी ने ट्विटर पर लिखा, "भारत में # ट्रिपल तलाक अब अवैध है, सभी मुस्लिम महिलाओं के हक के लिए ये एक बड़ा फैसला है, क्योंकि मुझे लगता है कि उन्हें अब कचरे की तरह ट्रीट नहीं किया जाएगा"

रवि दुबे

A post shared by Ravi Dubey (@ravidubey2312) on

जमाई राजा फेम रवि दुबे ने फैसले का समर्थन करते हुए कहा, "मैं फैसले के पूर्ण समर्थन में हूं. यह एक महान कदम है और जैसा कि प्रधान मंत्री जी ने हाल ही में कहा है कि ये फैसला मुस्लिम महिलाओं को समानता प्रदान करता है. मुझे खुशी है."

उल्का गुप्ता

A post shared by Ulka Gupta (@ulkagupta) on

'झांसी की रानी' में रानी लक्ष्मीबाई की भूमिका से ख्याति पाने वाली युवा अभिनेत्री उल्का गुप्ता कहती हैं, '' मैं बहुत खुश हूं और इस फैसले से राहत महसूस कर रही हूं, लेकिन अभी भी ये सिर्फ आधी जीत है. कुछ छद्म बुद्धिजीवी अब भी कह रहे हैं कि प्रतिबंध धार्मिक भावनाओं में दखल दे रहा है और ये अल्पसंख्यकों पर अन्याय है. अब मुझे महिला अधिकारों की पूरी जीत की उम्मीद है.

मनवीर गुर्जर

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi