S M L

सोनम कपूर को 'ट्रोल' करने वालों पहले पढ़ना-लिखना सीखो...

मेरा इन ट्रोल्स से एक ही अनुरोध है- जो भी कर रहे हो छोड़ दो और स्कूल चले जाओ

Pawas Kumar Updated On: Apr 23, 2017 12:02 PM IST

0
सोनम कपूर को 'ट्रोल' करने वालों पहले पढ़ना-लिखना सीखो...

बचपन में निबंध लिखता था कि भारत एक कृषि प्रधान देश है. सोच रहा हूं अब इसमें रिवीजन की जरूरत है- भारत एक ट्रोल प्रधान देश है.

बॉलीवुड अभिनेत्री सोनम कपूर को हाल में ही उनके एक लेख के लिए जमकर ट्रोल किया गया है. सोनम ने यह आर्टिकल हिंदुस्तान टाइम्स की 'लेट्स टॉक अबाउट ट्रोल्स' सीरीज के लिए लिखा था. विडंबना देखिए कि ट्रोंलिग और ऑनलाइन परेशान करने वालों के खिलाफ लिखा गया यह लेख ही ट्रोलिंग का शिकार बन गया.

सोनम के लेख की कुछ लाइंस ऑनलाइन शेयर की गई थीं.

HT1

इन लाइंस को पढ़ने के बाद लोगों ने सोनम को यह सिखाना शुरू कर दिया कि हमारे राष्ट्रगान में 'हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई' जैसी कोई लाइन ही नहीं है.

HT2

HT3

HT4

उनके कोट और राष्ट्रगान के बोल की तस्वीरें धड़ाधड़ सोशल मीडिया पर शेयर होने लगी. ट्रोल्स ने फिर साबित करना चाहा कि उनकी सोच पर सवाल उठाने वाली दरअसल एक 'मूर्ख हीरोइन' है जिसे कुछ आता-जाता नहीं.

मेरा इन ट्रोल्स से एक ही अनुरोध है- जो भी कर रहे हो, छोड़ दो और फिर से स्कूल चले जाओ. क्योंकि आपको ऑनलाइन लिखना भले आता हो, पढ़ना तो नहीं आता है. अगर आता तो सोनम के कोट को जरा ध्यान से पढ़ते. देखते कि शेयर की गई तस्वीर में 'जरा अपने राष्ट्रगान को एक बार फिर सुनिए' और 'बचपन में सुनी हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई वाली बात' के बीच के तीन बिंदु नजर हैं. अगर आप थोड़े और पढ़े-लिखे होते तो सोनम का मूल आर्टिकल पढ़ते. जहां आपको साफ नजर आता कि इन दोनों बातों के बीच एक पूरा का पूरा अदद फुलस्टॉप है.

HT6

सोनम के लेख पर आया रिएक्शन साबित करता है कि ऑनलाइन ट्रोलिंग की समस्या कैसी है. जहां पढ़े-लिखे अनपढ़ इंटरनेट की नकाबपोशी का फायदा उठाते हुए किसी को भी निशाने पर ले लेते हैं. क्या ये लोग अपनी कॉलेजों की किताबें या ऑफिस की रिपोर्ट को भी इसी 'सावधानी' के साथ पढ़ते हैं? क्या ये असल जिंदगी में भी ऐसे ही तुरत-फुरत प्रतिक्रिया देते हैं? अगर हां, तो ये समाज की 'प्रॉडक्टिविटी और सैनिटी' के लिए बड़ा खतरा हैं. वक्त आ गया है कि असल जिंदगी की तरह ऑनलाइन गलतियों के लिए भी सजा तय की जाए.

सोनम को आप पसंद करें न करें, एक बात तो है कि वह फिलहाल हमसे-आपसे ज्यादा समझदार दिखाई दे रही हैं. ट्रोलिंग पर उनकी प्रतिक्रिया भी इसका एक उदाहरण है.

HT5

उम्मीद है ट्रोलर्स इस ट्वीट को ध्यान से पढ़ेंगे. और अगली बार किसी को ट्रोल करने से पहले जरा सोचेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi