S M L

सिंगर शाल्मली ने उठाई 'जेंडर इक्वैलिटी' की आवाज

शाल्मली ने अपने नए एल्बम में महिलाओं के प्रति इस तरह के रवैये के खिलाफ आवाज उठाई है

Hemant R Sharma Hemant R Sharma Updated On: Jan 11, 2017 10:05 AM IST

0
सिंगर शाल्मली ने उठाई 'जेंडर इक्वैलिटी' की आवाज

बेंगलुरु में नए साल के मौके पर हुई छेड़छाड़ की घटनाओं की बहस के बीच शाल्मली खोलगड़े ने जेंडर इक्वैलिटी की एक नई बहस छेड़ दी है.

बेंगलुरु के साथ-साथ देश  के कई शहरों में नए साल के मौके पर महिलाओं के साथ हुई छेड़छाड़ की घटनाओं से देश शर्मसार है.

मीडिया के कई सेक्शन्स में इन घटनाओं ने महिलाओं की सुरक्षा पर एक तरफ गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं तो दूसरी तरफ कामकाजी महिलाओं के साथ वर्कप्लेस पर होने वाले उत्पीड़न के बारे में भी चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं.

ये भी पढ़ें: भारत में औरत होना इतना मुश्किल क्यों है.

शाल्मली ने अपने नए एल्बम में महिलाओं के प्रति इस तरह के रवैये के खिलाफ आवाज उठाई है.

शाल्मली ने इस गाने को खुद ही कंपोज भी किया है. एल्बम की डायरेक्टर भी वो खुद ही हैं.

बराबरी के लिए आवाज उठाई

लड़कियों ने जो शिकायत इन घटनाओं के बाद नहीं की है. शाल्मली की आवाज के रूप में वो शिकवे सामने आ गए हैं. शाल्मली ने बता दिया है कि एक औरत क्या कर सकती है और क्या नहीं...देखिए बराबरी की आवाज उठाता शाल्मली का ये गाना

शाल्मली ने इससे पहले कई फिल्मों में अपनी आवाज का जादू बिखेरकर सभी को झूमने के लिए मजबूर किया है.

सुल्तान का गाना 'बेबी को बेस पसंद है' 2016 का सबसे हिट सॉन्ग था...जिसे शाल्मली ने गाया था. इसके अलावा ये जवानी है दीवानी का 'बलम पिचकारी' गाना शाल्मली को बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर की फिल्मफेयर ट्रॉफी दिलवा चुका है.

ये भी पढ़ें: क्यों न करें हम फेमिनिज्म की बात?

शाल्मली की आवाज के जादू के अगर आप पुराने फैन हैं तो शाल्मली के इस एल्बम में आपको उनकी आवाज का दम देखने को मिलेगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi