S M L

सोनाक्षी सिन्हा की 'नूर' से 'दलित' गायब, 'सेक्स टॉय' भी हटा

सेंसर बोर्ड चाहता है कि फिल्म से दो शब्दों को हटा लिया जाए

FP Staff | Published On: Apr 18, 2017 03:39 PM IST | Updated On: Apr 18, 2017 03:44 PM IST

सोनाक्षी सिन्हा की 'नूर' से 'दलित' गायब, 'सेक्स टॉय' भी हटा

सेंसर बोर्ड ने सोनाक्षी सिन्हा की आने वाली फिल्म नूर से दो शब्दों को हटाने की सलाह दी है. सेंसर बोर्ड ने फिल्म में ‘दलित’ शब्द को हटाने को कहा और ‘सेक्स-टॉय’ की जगह ‘एडल्ट साइट’ शब्द का इस्तेमाल करने की हिदायत दी है.

सोनाक्षी सिन्हा की अपकमिंग फिल्म नूर 21 अप्रैल को रिलीज होगी. इससे पहले सेंसर बोर्ड ने दो शब्दों पर कैंची चला दी. पहले भी फिल्म में जर्नलिस्ट बरखा दत्त के नाम के जगह बीप का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई थी.

अब इस फिल्म में दलित शब्द की जगह म्यूट कर दिया गया है. सेंसर बोर्ड ने फिल्म मेकर्स को दलित समुदाय से जुड़े सभी सीन हटाने को कहा है क्योंकि यह जातिप्रथा के बारे में बात करते हैं.

नूर' पाकिस्तानी लेखक सबा इम्तियाज की नॉवेल 'कराची! यू आर किलिंग मी' पर बेस्ड है. सुनील सिप्पी के निर्देशन में बन रही इस फिल्म का दूसरा ट्रेलर आया है.

इस फिल्म में सोनाक्षी सिन्हा 'नूर' नाम की एक जर्नलिस्ट का किरदार निभा रही हैं जो मुंबई में रहती है. पहले ट्रेलर में वो कहती हुई दिख रही है कि मेरी जिंदगी बोरिंग है. वो रोमांस और फ्लर्ट करना चाहती हैं लेकिन उन्हें ऐसा मौका नहीं मिलता.

लेकिन दूसरे ट्रेलर वो सच के पीछे भागते हुए दिख रही है. किसी स्कैम (घोटाले) की हकीकत सामने लाने की पुरजोर कोशिश करती हुई नजर आ रही हैं.

फिल्म के दूसरे ट्रेलर को देखकर लोगों की उम्मीदें बढ़ी हैं. आगे देखते हैं फिल्म के रिलीज होने तक सेंसर बोर्ड को और क्या-क्या दिक्कतें होती हैं.

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi