विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

Exclusive : कोर्ट के बाद अब नवाजुद्दीन सिद्दीकी पर कसा प्रवर्तन निदेशालय का शिकंजा

प्रवर्तन निदेशालय के नोटिस पर नवाजुद्दीन के वकील ने जवाब दिया है

Rajni Ashish Updated On: Nov 09, 2017 05:13 PM IST

0
Exclusive : कोर्ट के बाद अब नवाजुद्दीन सिद्दीकी पर कसा प्रवर्तन निदेशालय का शिकंजा

नवाजुद्दीन सिद्दीकी लगातार विवादों से घिरते हुए दिखाई दे रहे हैं. पहले नवाजुद्दीन सिद्दकी अपनी किताब ‘एन आर्डिनरी लाइफ: ए मेमॉयर’ की वजह से लगातार आलोचनाओं के घेरे में रहे और फिर उनकी किताब में अपने बारे में लिखे गए कंटेंट की वजह नाराज एक्स-गर्लफ्रेंड सुनीता ने उन्हें कोर्ट में घसीटने का फैसला किया. सुनीता ने नवाज को लीगल नोटिस भेजकर 2 करोड़ का मानहानि का दावा ठोका. इतना सब झेल रहे नवाजुद्दीन को अब एक नई मुसीबत का सामना करना होगा. रिपोर्ट्स के मुताबिक नोएडा के ऑनलाइन फ्रॉड मामले में प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) लखनऊ ने गुरुवार को नवाज को पूछताछ के लिए बुलाया है. ईडी ने नवाजुद्दीन को दूसरी बार नोटिस भेजकर पेश होने को कहा है. प्रवर्तन निदेशालय ने पहले भी नवाजुद्दीन को पूछताछ के लिए बुलाया था. बताया जा रहा है कि इसके पहले भी नवाज को एक बार नोटिस भेजा जा चूका है लेकिन तब वो ना हाजिर हुए ना उन्होंने कोई जवाब भेजा.

नवाज के वकील ने दिया जवाब

अब उनके वकील रिजवान सिद्दिकी ने इस पूरे मामले पर अपनी तरफ से हमसे बात करते हुए कहा है कि, ‘मेरे क्लाइंट नवाजुद्दीन सिद्दिकी के प्रवर्तन निदेशालय से मिलने वाले सम्मन के बारे में कई अफवाह फैलाए जा रहे हैं. उन्होंने आगे बोलते हुए कहा कि, ‘इसके संबंध में मैं आप सबको ये क्लियर करना चाहता हूं कि मेरे क्लाइंट ने एक प्रोफेशनल एक्टर होने के नाते केवल Addsbook.com pvt. Ltd. नामक कंपनी के लिए अपनी सेवाएं दी हैं. और उस कंपनी के साथ और किसी भी संबंध में बात नहीं हुई है जो कि प्रवर्तन निदेशालय ने ऐसी जांच-पड़ताल की है.’

उन्होंने कहा कि, ‘जहां तक पैसों की बात है तो ये मेरे मुवक्किल को कानूनी तौर पर और उचित रुप से उनकी कंपनी को दी गई सेवाओं के लिए मिला था. इस संबंध में संबंधित सरकारी विभागों ने उस समय जांच की थी और जांच से पहले भी उन्हें इसके संबंध में जानकारी दी गई थी. मेरे मुवक्किल हर स्टेज पर कानून के प्रावधानों का पालन करते हैं. डरने और छिपाने की कोई बात ही नहीं है क्योंकि उनका कोई दोष है ही नहीं. प्रवर्तन निदेशालय इस मामले की जांच कर रहा है और इसके मद्देनजर हमने पूरी जानकारी उन्हें उपलब्ध करवाई है'.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi