S M L

दादासाहब फाल्के पुरस्कार: मशहूर फिल्मकार विश्वनाथ को मिलेगा यह सम्मान

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी तीन मई को विज्ञान भवन में उन्हें सम्मानित करेंगे

Bhasha | Published On: Apr 24, 2017 10:45 PM IST | Updated On: Apr 24, 2017 10:46 PM IST

दादासाहब फाल्के पुरस्कार: मशहूर फिल्मकार विश्वनाथ को मिलेगा यह सम्मान

फिल्म जगत में उत्कृष्ट योगदान के लिए फिल्मकार और निर्माता कासीनाधुनी विश्वनाथ को साल 2016 के दादा साहब फाल्के पुरस्कार के लिए चुना गया है.
 विश्वनाथ दादासाहब फाल्के पुरस्कार पाने वाले 48वें फनकार होंगे

विश्वनाथ ने तेलुगू, तमिल और हिंदी में कई प्रशंसनीय फिल्में बनाई है. विश्वनाथ भारतीय सिनेमा का सर्वोच्च सम्मान पाने वाले 48वें फनकार होंगे. पुरस्कार में उन्हें एक स्वर्णकमल, 10 लाख रुपए नकद और एक शॉल दिया किया जाएगा.

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी तीन मई को विज्ञान भवन में उन्हें सम्मानित करेंगे. 87 साल के विश्वनाथ को दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित करने के लिए समिति ने सूचना और प्रसारण मंत्री एम वेंकैया नायडू से सिफारिश की थी. जो नायडू ने सोमवार को स्वीकार कर ली है.

 विश्वनाथ की कौन-कौन सी फिल्में जीत चुकी है राष्ट्रीय फिल्म सम्मान?

पांच राष्ट्रीय फिल्म सम्मान जीत चुके विश्वनाथ को उनकी फिल्मों ‘शंकरभरणम’, ‘सागर संगमम’, ‘स्वाति मुतयम’, ‘सप्तपदी’, ‘कामचोर’, ‘संजोग’ और ‘जाग उठा इंसान’ के लिए जाना जाता है.

विश्वनाथ 1965 से अब तक 50 फिल्में बना चुके है. विश्वनाथ को सामाजिक विषयों के इर्दगिर्द फिल्में बनाने के लिए जाना जाता है.

59वें अकादमी अवार्ड्स में ‘स्वाति मुतयम’ ने राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता था. विश्वनाथ को 1992 में पद्मश्री सम्मान से नवाजा गया था.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi