S M L

पलट गई बाजी, अब ‘मगधीरा’ पर ही लगा कहानी चुराने का आरोप

अब फिल्म ‘मगधीरा’ ही फंसी विवादों में, एक लेखक का कहना है कि 'मगधीरा' उनकी साल 1998 में आई किताब ‘चंदेरी’ की हू-ब-हू कॉपी है

Hemant R Sharma Hemant R Sharma | Published On: Jun 02, 2017 11:52 AM IST | Updated On: Jun 02, 2017 11:52 AM IST

पलट गई बाजी, अब ‘मगधीरा’ पर ही लगा कहानी चुराने का आरोप

कुछ दिनों पहले फिल्म ‘राब्ता’ के निर्माताओं पर फिल्म की कहानी चुराने का आरोप लगा था. कहा गया था कि ये फिल्म ‘मगधीरा’ की है, जिसे ‘राब्ता’ के फिल्ममेकर्स ने चुराई है, लेकिन अब इसमें एक नया मोड़ आ गया है. डेक्कन क्रॉनिकल के मुताबिक एक लेखक एस पी चैरी का कहना है कि, ‘मगधीरा’ उनकी साल 1998 में आई किताब ‘चंदेरी’ की हू-ब-हू कॉपी है.

तेलुगू की ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘मगधीरा’ के प्रोड्यूसर ने कुछ दिनों पहले ‘राब्ता’ के मेकर्स पर फिल्म की स्क्रिप्ट चुराने का आरोप लगाया था, लेकिन अब एक लेखक ने ‘मगधीरा’ पर ही उनकी कहानी चुराने का आरोप लगाया है. डेक्कन क्रॉनिकल के मुताबिक लेखक एस पी चैरी का कहना है कि फिल्म ‘मगधीरा’ उनकी साल 1998 में आई किताब ‘चंदेरी’ की कॉपी है. एक-एक शब्द मेरी किताब के हैं.

‘मगधीरा’ में पात्रों के नाम को बदलकर कुछ मामूली बदलाव किए गए हैं, लेकिन इसके अलावा पूरी की पूरी कहानी मेरी किताब ‘चंदेरी’ की है.

‘चंदेरी’ दो प्यार करने वालों की कहानी है जो मध्य प्रदेश के एक राज्य में कुएं में कूद कर अपनी जान दे देते हैं और फिर 400 साल बाद उनका पुनर्जन्म होता है. कहानी बिल्कुल एक सी है इसमें कोई अंतर नहीं.

फिलहाल ‘मगधीरा’ के निर्माता गीता आर्ट्स के खिलाफ ‘चंदेरी’ के लेखक एस पी चैरी ने लिखित शिकायत दर्ज कराई है. हालांकि, ‘मगधीरा’ के मेकर्स की तरफ से अब तक कोई जवाब नहीं आया है. लेखक एस पी चैरी की मांग है कि उन्हें फिल्म में क्रेडिट दिया जाए. फिलहाल इस फिल्म को लिखने का क्रेडिट निर्देशक एस एस राजामौली के पिता के वी विजेंद्र प्रसाद को दिया गया है.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi