S M L

20 मई को पहली बार पेटेंट हुई थी ब्लू जींस

जींस ही थी जिसने खाप पंचायतों और यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर्स की सोच को एक जैसा बनाया

Animesh Mukharjee | Published On: May 19, 2017 11:55 PM IST | Updated On: May 20, 2017 07:44 AM IST

0
20 मई को पहली बार पेटेंट हुई थी ब्लू जींस

20 मई 1873 इतिहास की वो तारीख है कि जिसने मानव सभ्यता को हमेशा के लिए बदल दिया. इसी दिन मशहूर कंपनी लिवाइस ने ब्लू जींस का पेटेंट करवाया था. वही पीतल की रिपिट और चेन वाली नीली डेनिम. इस तारीख के बाद से दुनिया में दो विश्व युद्ध हो गए. कितनी तरह के फैशन आकर चले गए मगर नीली जींस अपनी जगह पर बनी रही.

जींस के फायदे

हिंदुस्तान में भी जींस का एक अलग इतिहास बना. जींस को लेकर तरह-तरह के बवाल हुए. मगर जो आसानी से उतर जाए वो जींस ही क्या और जींस के तो कई फायदे हैं. अगर आप फैशनेबल हैं तो फटी जींस शान से पहनिए, नहीं हैं तो पोंछा बना लीजिए. चलिए साथ मिलकर दोहराते हैं जींस के फायदे-

1234

12345

The blue Jeans (2)

The blue Jeans (3)

अगर जींस न होती तो हमें पता ही नहीं चलता कि ब्रो किस ब्रांड का अंडर वियर पहनता है

The blue Jeans (5)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi