S M L

आईआईएम की परीक्षा नहीं देना निलेकणि के लिए खुशनसीबी है!

निलेकणि ने कहा कि अगर वह परीक्षा पास कर जाते, तब वह साबुन बेचने वाली किसी कंपनी के प्रबंधक होते

Bhasha Updated On: Aug 08, 2017 08:39 PM IST

0
आईआईएम की परीक्षा नहीं देना निलेकणि के लिए खुशनसीबी है!

इंफोसिस के सह-संस्थापक नंदन निलेकणि का मानना है कि वह खुशनसीब थे जिससे वह आईआईएम की प्रवेश परीक्षा नहीं दे पाए क्योंकि अगर ऐसा नहीं होता तो वह नारायण मूर्ति से नहीं जुड़ पाते. नारायणमूर्ति ने चार अन्य संस्थापकों के साथ मिलकर इंफोसिस बनाई.

सीआईआई द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा, ‘मैं आईआईएम प्रवेश परीक्षा नहीं दे सका और इसके लिये मैं स्वयं को भाग्यशाली मानता हूं...मुझे नौकरी चाहिए थी और इसके लिए मैं एक छोटी कंपनी में गया जहां नारायण मूर्ति ने मुझे काम दिया. उसके बाद हमारा बढ़िया रिश्ता रहा और उसके बाद इंफोसिस शुरू हुई. उसके बाद की बाकी बातें सब जानते हैं.’

निलेकणि ने कहा कि अगर वह परीक्षा पास कर जाते, तब वह साबुन बेचने वाली किसी कंपनी के प्रबंधक होते.

उन्होंने हल्के-फुल्के अंदाज में कहा, ‘मेरे ज्वाइन करने के बाद इंफोसिस में परीक्षा शुरू हो गई. मैं खुशनसीब था कि परीक्षा शुरू होने से पहले इंफोसिस में पहुंच गया.’ निलेकणि ने आगे कहा कि उन्होंने जो समय आईआईटी में बिताया, उससे जीवन में महत्वपूर्ण मोड़ आया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi