विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

भारत मेट्रिमोनी ने जारी किए आईपीओ, जानिए कैसे खरीद सकते हैं शेयर

कोई भी निवेशक 13 सितंबर तक शेयर खरीदने के लिए अप्लाई कर सकता है

FP Staff Updated On: Sep 11, 2017 04:09 PM IST

0
भारत मेट्रिमोनी ने जारी किए आईपीओ, जानिए कैसे खरीद सकते हैं शेयर

देश की बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी भारत मेट्रिमोनी डॉट कॉम का आईपीओ (इनिशियली पब्लिक ऑफर) सोमवार को आम आदमी के लिए खुल गया है. इसका मतलब है कि कोई भी निवेशक 13 सितंबर तक शेयर खरीदने के लिए अप्लाई कर सकता है.

आपको बता दें कि कंपनी आईपीओ के माध्यम से अपने शेयर जारी करती है. आईपीओ के जरिए कंपनियों के मालिक (प्रमोटर्स) रकम जुटाने के लिए अपनी कंपनी की कुछ हिस्‍सेदारी को बेचते हैं.

कम से कम 15 शेयर के लिए करना होगा आवेदन

matrimony.com का आईपीओ आज से 13 सितंबर तक के लिए खुल गया है जिसका प्राइस बैंड 983-985 रुपए तय किया गया है. इस आईपीओ का लॉट साइज है 15 शेयर यानी इसमें आपको न्यूनतम 14775 रुपये निवेश करने होंगे. इस आईपीओ के जरिए कंपनी की 500 करोड़ जुटाने की योजना है. आईपीओ के बाद कंपनी में प्रोमोटर हिस्सा घटकर 50.58 फीसदी होगा.

क्या करती है कंपनी

matrimony.com शादी के विज्ञापन देने वाली सबसे पुरानी ऑनलाइन कंपनी है. Bharatmatrimony.com, EliteMatrimony.com के नाम से कंपनी की वेबसाइट्स है. CommunityMatrimony.com भी कंपनी की बेबसाइट्स है.

कारोबार पर एक नजर

मेट्रिमोनी डॉट कॉम ऑनलाइन मैचमेंकिंग और मैरिज सर्विसेज उपलब्ध कराने वाली कंपनी है. कंपनी की वेबसाइट के मुताबिक कंपनी की देशभर में 140 शाखाएं है और उसमें कुल 3500 कर्मचारी कार्यरत हैं. कंपनी भारतमेट्रिमोनी डॉट कॉम, कम्यूनिटीमेट्रिमोनी डॉट कॉम और एलीटमेट्रिमोनी डॉट कॉम का संचालन करती है.

आईपीओ की रकम क्या करेगी कंपनी

आईपीओ के जरिए जुटाई गई राशि का इस्तेमाल विज्ञापन और बिजनेस प्रमोशन गतिविधियों, चेन्नई में ऑफिस बनाने के लिए जमीन की खरीद, ओवरड्राफ्ट फैसिलिटीज की रिपेमेंट और जनरल कॉरपोरेट कार्यों के लिए किया जाएगा.

क्‍या होता है आईपीओ

आईपीओ का मतलब इनीशियल पब्लिक ऑफर्स होता है. इसके लिए कंपनियां बकायदा शेयर बाजार में खुद को लिस्ट कराकर अपने शेयर इन्‍वेस्‍टर्स को बेचने का प्रस्ताव लाती हैं. शेयर बाजार में लिस्टेड होने के लिए कंपनी को अपने बारे में तमाम जानकारियां सार्वजनिक करनी होती हैं. यदि हम इसे आसान शब्‍दों में कहें तो कंपनी आईपीओ के माध्यम से अपने शेयर जारी करती है. आईपीओ के जरिए कंपनियों के प्रमोटर पूंजी जुटाने के लिए अपनी कंपनी की कुछ हिस्‍सेदारी को बेचते हैं.

कंपनियां क्‍यों लाती हैं आईपीओ

कंपनियां अपनी विस्‍तार योजनाओं, इक्विटी बढ़ाने और अन्‍य जरूरतों के लिए अपना आईपीओ स्टॉक मार्केट में लाती हैं. इसके अलावा लोन लेने से बचने और पूंजी जुटाने के लिए कंपनियां आईपीओ को सहारा लेती हैं. साथ ही, मार्केट की मजबूती को भुनाने के लिए भी कंपनियां आईपीओ को बेहतर विकल्‍प मानती हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi