विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

ईज ऑफ डूइंग बिज़नेस: टॉप-50 में शामिल होने को होंगे 200 सुधार

वर्ल्ड बैंक ने अपनी रिपोर्ट में स्वीकार किया है कि जीईएसटी एक महत्वपूर्ण सुधार है और उम्मीद है कि अगले साल देश की रैंकिंग पर इसका सकारात्मक असर होगा

Bhasha Updated On: Nov 01, 2017 05:10 PM IST

0
ईज ऑफ डूइंग बिज़नेस: टॉप-50 में शामिल होने को होंगे 200 सुधार

कारोबार करने में सुगमता को बढ़ाने के लिए सरकार वर्ल्ड बैंक के साथ मिलकर 200 से ज्यादा सुधारों पर काम रही है, जो ईज ऑफ डूइंग बिज़नेस के मामले में भारत को टॉप-50 देशों की श्रेणी में पहुंचाने में मदद करेगा. औद्योगिक नीति और संवर्धन विभाग (डीआईपीपी) के सचिव रमेश अभिषेक ने यह बात कही.

सीआईआई इन्वेस्ट नॉर्थ समिट से इतर अभिषेक ने संवाददाताओं से कहा, 'इस साल हम 122 सुधारों को लागू कर चुके हैं और इनको मान्यता देने के लिए वर्ल्ड बैंक के साथ काम कर रहे हैं. इसके अलावा कारोबार सुगमता के लिए हम 90 और सुधारों को इस साल प्रोत्साहित करेंगे.'

भारत मंगलवार को विश्व बैंक की ‘कारोबार सुगमता’ रैकिंग में 30 स्थानों की छलांग लगाकर 100वें स्थान पर पहुंच गया है. टैक्सेशन, बिल्डिंग परमिट, निवेशक संरक्षण और दिवालिया समाधान के क्षेत्र में सुधार होने की वजह से देश को यह उपलब्धि हासिल हुई है.

जीएसटी है महत्वपूर्ण सुधार

रमेश अभिषेक ने कहा, 'वर्ल्ड बैंक रैंकिंग में 30 स्थानों की छलांग बहुत ही सराहनीय है. अब हमारा उद्देश्य टॉप-50 में पहुंचना है. उन्होंने कहा कि उनके विभाग ने हितधारकों के साथ बैठक और कारोबारी माहौल को सुधारने के लिए सरकार द्वारा किए गए सुधारों पर उनसे प्रतिक्रिया लेना शुरू कर दिया है.

सचिव ने यह भी कहा कि वर्ल्ड बैंक ने अपनी रिपोर्ट में स्वीकार किया है कि जीएसटी एक महत्वपूर्ण सुधार है और उम्मीद है कि अगले साल देश की रैंकिंग पर इसका सकारात्मक असर होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi